UP में छोटे जिले बने कोरोना का हब:प्रदेश में 299 एक्टिव केस, सबसे ज्यादा रायबरेली-मथुरा में 80 पॉजिटिव, एक्सपर्ट बोले- आगे फेस्टिव सीजन, सचेत रहें

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में कोरोना से भले ही राहत मिली हो, लेकिन 5 जिलों में एक्टिव केस कम नहीं हो रहे हैं। प्रदेश में वर्तमान में 299 एक्टिव केस हैं, यानी इनका इलाज चल रहा है। लेकिन 141 केस सिर्फ 5 जिलों- मथुरा, गोरखपुर, रायबरेली, लखनऊ और मैनपुरी में हैं। इसके उलट कोरोना की पहली और दूसरी लहर में प्रदेश में सबसे ज्यादा भयावह हालात आगरा में देखने को मिले थे। लेकिन यहां अब महज 2 एक्टिव केस हैं। वहीं, बीते तीन दिनों के आंकड़ें इस तरफ इशारा कर रहे हैं कि यूपी में कोरोना केस एक बार फिर बढ़ने लगे हैं।

यूपी में 3 दिन में ऐसे बढ़े केस

तारीखनए केस आए
26 अगस्त10
27 अगस्त16
28 अगस्त26

शनिवार को प्रदेश के 16 जिलों में कोरोना के 26 पॉजिटिव केस मिले थे। इस दौरान 45 मरीज कोविड से रिकवर हुए। दो संक्रमितों की मौत भी हुई है। वहीं, 59 जिलों में कोरोना के एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिले। यूपी में 24 घंटे में 2,17,109 सैम्पल टेस्ट किए गए। अब तक कुल 7.17 लाख से ज्यादा सैंपल की जांच हो चुकी है। रिकवरी दर 98.6 है, जबकि बीते 24 घंटे में पॉजिटिविटी दर 0.01% रही।

21 जिले हुए कोरोना मुक्त
प्रदेश में अलीगढ़,औरैया, बदांयू, गोंडा, उन्नाव, हमीरपुर, देवरिया, फर्रुखाबाद, हरदोई, बिजनौर, एटा, शाहजहांपुर, फतेहपुर, महोबा, संतकबीर नगर और कानपुर देहात समेत कुछ अन्य जिलों में कोरोना के सक्रिय मामले शून्य हैं। शनिवार को प्रदेश के 59 जिलों को कोई पॉजिटिव केस नहीं मिला। प्रदेश सबसे ज्यादा केस मेरठ, गौतमबुद्ध नगर व लखनऊ और गोरखपुर में मिले। इन सभी 4 जिलों में 3-3 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है।

बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों की टेस्टिंग यूपी में अनिवार्य कर दी गई है।
बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों की टेस्टिंग यूपी में अनिवार्य कर दी गई है।

एक्सपर्ट एडवाइस- फेस्टिव सीजन में रहे सचेत
लखनऊ स्थित लोकबंधु राजनारायण संयुक्त चिकित्सालय की निदेशक डॉ. दीपा त्यागी के मुताबिक यूपी में भले ही कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेहद कम नजर आ रही हो, मगर प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा अभी टला नहीं है। इस बीच कई त्यौहार भी हैं। हमें पूरी सतर्कता के साथ CAB यानी कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का पालन करना होगा।

वैक्सीनेशन में हम जरूर बेहतरीन कर रहे हैं पर अभी भी बड़ी संख्या में हमारी जनसंख्या को वैक्सीन नहीं लगी है। प्रदेश में कुछ छोटे जिले भी कोरोना हॉट स्पॉट बनकर उभरे हैं। उन सभी पर हमें विशेष निगरानी करनी होगी और तीसरी लहर को देखते हुए खुद को तैयार रखना होगा।

प्रदेश में कोरोना और वैक्सीनेशन की स्थिति

अब तक कुल संक्रमित17,09,234
कुल एक्टिव केस299
अब तक ठीक हुए16,86,128
कुल मौत22,807
27 अगस्त को एक दिन में वैक्सीनेशन30,0680
पहली डोज5,91,30,119
दूसरी डोज1,13,20,367
कुल वैक्सीनेशन7,04,50,486

इन प्रदेशों से आने वालों पर रहेगी नजर
जिन राज्यों में साप्ताहिक संक्रमण दर 3 फीसद तक है, वहां से आने वाले लोगों की RT-PCR रिपोर्ट अनिवार्य है। इसके अलावा यदि वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाण-पत्र है, तो जांच की जरूरत नहीं है। हालांकि बाहर से आने पर क्वारैंटाइन की सलाह दी गई है। इसमें मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, महाराष्ट्र, गोवा, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, मिजोरम, केरल हैं।

खबरें और भी हैं...