यूपी में कोरोना फिर से बना जानलेवा:24 घंटे में 2 लोगों की मौत, 15 दिन में 182% बढ़े केस; फेस्टिव सीजन में फिर संक्रमण बढ़ा

लखनऊ3 महीने पहले

उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामलों में आई तेजी अब जानलेवा बन चुकी हैं। मंगलवार को आई रिपोर्ट में 24 घंटे के भीतर 2 संक्रमितों की मौत की पुष्टि हुई हैं। 4 दिन पहले एक बुजुर्ग महिला की मौत रिकॉर्ड की गई थी।

वही एक्टिव केस भी बढ़कर 5 हजार 647 हो गए हैं। बड़ी बात ये हैं कि महज 15 दिन के भीतर एक्टिव केस की 3100 से बढ़कर 5600 के पार जा चुके हैं। यानी 182% का इजाफा हुआ हैं। यूपी के 4 शहरों में पॉजिटिव रेट 5% से ज्यादा हैं।

पढ़िए ये कौन-कौन से शहर हैं...

जिला

पॉजिटिव रेट

गौतमबुद्ध नगर

25.90%

लखनऊ

9.05%

पीलीभीत

6.38%

गाजियाबाद

5.33%

(ये डेटा स्वास्थ्य विभाग से मिला है। आंकड़े 5 से 11 अगस्त के दरम्यान के हैं। )

फेस्टिव सीजन ने फिर पॉजिटिव केस बढ़ाए

कोरोना के मामलों में आई इस तेजी का सबसे डराने वाला पहलू ये है कि एक बार फिर से डॉक्टर संक्रमित होना शुरु हो चुके। दूसरी लहर की शुरुआत में भी सबसे पहले डॉक्टरों से ही कोरोना की शुरुआत हुई थी। प्रदेश में सबसे ज्यादा केस लखनऊ से आ रहे हैं। यहां मंगलवार को 78 नए मामले रिपोर्ट हुए।

एक फैक्ट ये भी है कि फेस्टिव सीजन में एक बार फिर कोविड संक्रमण बढ़ रहा है। पहली दो लहर भी होली के त्योहार के बाद ही आईं थीं। इसलिए खतरे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

एक बार फिर कोविड जांच की संख्या में इजाफा किया गया। ताकि संक्रमण को शुरुआती स्टेज में पकड़ा जा सके।
एक बार फिर कोविड जांच की संख्या में इजाफा किया गया। ताकि संक्रमण को शुरुआती स्टेज में पकड़ा जा सके।

डॉक्टर भी हो रहे संक्रमित

कोरोना के मामलों में आई तेजी के बाद अब डॉक्टर भी संक्रमित होने लगे हैं। लखनऊ के लोकबंधु अस्पताल राज नारायण लोक बंधु संयुक्त अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एसके सक्सेना की कोविड जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई हैं।

शनिवार को दिन में वे अस्पताल रहे। हालांकि एक दिन पहले से ही उन्हें बुखार आ रहा था और उन्होंने जांच के लिए सैंपल भेजा था। उनके अलावा अस्पताल में एक अटेंडेंट की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई हैं। लोकबंधु के आइसोलेशन वार्ड में फिलहाल 5 कोविड पॉजिटिव मरीज भर्ती हैं।

वही सिविल अस्पताल में भी 7 संक्रमित मरीज अस्पताल में भर्ती है। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरपी सिंह ने बताया कि वरिष्ठ चिकित्सक डॉ.जावेद की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फिलहाल वह आइसोलेशन में हैं। इसके अलावा अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में करीब 7 मरीजों का इलाज चल रहा है।

मत हो पैनिक, प्रोटोकॉल जरूर करें फॉलो

KGMU कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ.विपिन पुरी ने बताया कि कोरोना के बढ़ते केस चिंताजनक जरूर है पर पैनिक होने की जरूरत नही हैं। फिलहाल सतर्कता बढ़ाने की जरूरत हैं। हमें कोरोना से बचाव के सभी प्रोटोकॉल को फॉलो करना होगा।

KGMU में कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी ने बताया कि अगले एक महीने तक ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत हैं।
KGMU में कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी ने बताया कि अगले एक महीने तक ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत हैं।

इसके अलावा जो अब तक बूस्टर डोज नही लगा सके हैं। उन्हें भी तत्काल इसे लगवाना चाहिए। घर में किसी को भी बुखार जैसे लक्षण हो तो सबसे पहले आइसोलेट हो जाएं और RT-PCR टेस्ट कराएं। पॉजिटिव आने पर होम आइसोलेशन में रहकर भी ट्रीटमेंट ले सकते हैं। हालांकि लापरवाही मत बरतें।

UP में 35.82 करोड़ लोगों को मिली डोज

अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक सोमवार को यूपी में एक दिन में 1.56 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई है। अब तक 18 साल से ज्यादा उम्र के 15.37 करोड़ लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी हैं। दूसरी डोज लगाने वालों की संख्या 14.63 करोड़ हैं। 15 से 17 साल के बीच पहली डोज लेने वाले 1.41 करोड़ रहे। दूसरी डोज 1.29 करोड़ लोगों को लगी है।

मंगलवार को लखनऊ के लोकबंधु अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगाती क्लास 11th की एक स्टूडेंट
मंगलवार को लखनऊ के लोकबंधु अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगाती क्लास 11th की एक स्टूडेंट

12 से 14 साल के बीच पहली डोज 85.73 लाख और दूसरी डोज 73.73 लाख को लगी है। इसके अलावा 1 करोड़ 50 लाख 68 हजार 108 को अब तक प्रदेश में प्री कॉशन डोज दी गयी है। अब तक कुल मिलाकर 35 करोड़ 82 लाख 7 हजार 921 को कोरोना वैक्सीन की डोज दी गयी है।