दूसरी लहर से 4 गुना ज्यादा तेज थर्ड-वेव की शुरुआत:10 दिनों में 1505% बढ़े कोरोना के केस, 24 घंटे में यूपी में 572 केस

लखनऊ7 महीने पहले

यूपी में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है, यह हम नहीं प्रदेश के कोविड के आंकड़े कह रहे। इन्हीं आंकड़ों से यह भी पता चल रहा है कि तीसरी लहर में केस दूसरी लहर से भी 4 गुना ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं। 24 अप्रैल 2021 को सेकेंड वेव के दौरान यूपी में 1 दिन में सबसे ज्यादा 37 हजार 9 सौ 44 केस आए थे।

ये सबसे अधिक था और यही सेकेंड वेब का पीक भी था। इस पीक के शुरू होने से पहले के 10 दिन में 388% तक कोरोना के केस बढ़े थे। इस बार जो केस आ रहे हैं, वो सेकेंड वेव से भी चार गुना तेज हैं। इस बार पिछले 10 दिनों में कोरोना के रोजाना केस बढ़ने की रफ्तार 1505% तक है।

मार्च में सेकेंड वेव में जब कोरोना का पीक आया तो उस वक्त का सीन

अभी यूपी में डरावनी रफ्तार से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या पहुंची 2261

सोमवार को 24 घंटे में राज्य में 572 नए केस सामने आए हैं। ताबड़तोड़ मिल रहे कोरोना संक्रमितों के कारण प्रदेश में सक्रिय मामले 2261 तक पहुंच गए हैं। बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले गाजियाबाद में मिले है। यहां एक ही दिन में 130 केस रिपोर्ट हुए है।

गौतमबुद्ध नगर में 101 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके अलावा लखनऊ में 86, मेरठ में 49, आगरा में 33 और वाराणसी में 20 मामले सामने आए। इस दौरान एक दिन में 1 लाख 47 हजार 851 सैंपल की जांच की गई, जिसमें कोरोना संक्रमण के 552 नए मामले सामने आए हैं।

दिल्ली NCR से लगे जनपद बने कोरोना हब, 3 जिलों में कोविड के 1056 एक्टिव केस

दिल्ली से जुड़े NCR के इलाके कोरोना की तीसरी लहर का हब बनते जा रहे हैं। यहां के गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद और मेरठ अकेले यही 3 जिलों में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 1056 तक पहुंच गई है। वहीं, अब तक प्रदेश में पाए गए कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के 8 में से 7 केस भी यहीं मिले हैं।

सबसे पहले गाजियाबाद में 17 दिसंबर को 2 केस आए। उसके बाद मेरठ में एक, फिर मुजफ्फरनगर में 3 और गौतमबुद्ध नगर में भी एक व्यक्ति की जीनोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट में नए वैरिएंट की पुष्टि हुई है।

प्रदेश में शुरू हुआ किशोरों का कोरोना वैक्सीनेशन

यूपी में अब तक कोरोना वैक्सीनेशन की 20 करोड़ 26 लाख 12 हजार 600 डोज लगाई जा चुकी है। इनमें से 12 करोड़ 85 लाख को पहली डोज, वहीं 7 करोड़ 41 लाख को दोनों डोज लग चुकी है। 3 जनवरी को प्रदेश में 12 लाख 18 हजार लोगों को वैक्सीन की डोज लगी।

सोमवार से ही प्रदेश में 15 साल से 18 तक के किशोरों को-वैक्सीन की डोज लगनी शुरू हुई। 10 जनवरी से बूस्टर डोज भी लगनी शुरू होगी। पहले दिन करीब 2 लाख किशोरों को वैक्सीन की पहली डोज लगी। इसके लिए प्रदेश में 2,150 बूथ बनाए गए थे।