• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • UP Covid Update There Has Been A Tremendous Decrease In Testing In The State With A Population Of 24 Crores, Even 2 Lakh Samples Are Not Being Tested For 2 Days.

UP में 24 फीसदी तक कम हुई सैंपलिंग:टेस्टिंग में कमी, 2 दिनों से 2 लाख सैंपल की भी नहीं हो रही जांच, इसलिए कम आ रहे केस

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यूपी में 24 फीसदी तक कम हुई सैंपलिंग - Dainik Bhaskar
यूपी में 24 फीसदी तक कम हुई सैंपलिंग

उत्तर प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग के आंकड़ों में तेजी से गिरावट है। 2 दिनों के भीतर करीब 50 हजार सैंपल की जांच में कमी आई है। इसी का नतीजा है प्रदेश में पॉजिटिव केस की संख्या में भी लगातार गिरावट दर्ज हो रही है। अब इसे इलेक्शन कैंपेन की बाधा दूर करने की कवायद समझा जाए या फिर कुछ और लेकिन UP में जहां बीते हफ्ते तक ढाई लाख केस की टेस्टिंग रोजाना की जा रही थी, बीते 2 दिनों में ये आंकड़ा 2 लाख भी नही छू पाया है।

24 फीसदी तक आई सैंपल की जांच में आई गिरावट

UP में टेस्टिंग के आंकड़ों में 24 फीसदी तक गिरावट दर्ज हुई है। 20 जनवरी को राज्य में जहां 2 लाख 47 हजार 845 सैंपल की जांच एक दिन में हुई, वही 24 जनवरी को ये आंकड़ा 1 लाख 86 हजार 697 तक पहुंच गया। इस गिरावट का सीधा असर डेली पॉजिटिव केस पर भी देखने को मिला। 20 जनवरी को यहां 18 हजार 554 पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुए वहीं 24 जनवरी को ये आंकड़ा 11 हजार 159 रहा।

कोरोना टेस्टिंग-

20 जनवरी - टोटल काउंट - 2 लाख 47 हजार 845, पॉजिटिव केस - 18 हजार 554

21 जनवरी - टोटल काउंट - 2 लाख 41 हजार 457, पॉजिटिव केस - 16 हजार 142

22 जनवरी - टोटल काउंट - 2 लाख 37 हजार 109, पॉजिटिव केस - 16 हजार 740

23 जनवरी - टोटल काउंट - 2 लाख 32 हजार 51, पॉजिटिव केस - 13 हजार 830

24 जनवरी - टोटल काउंट - 1 लाख 86 हजार 697, पॉजिटिव केस - 11 हजार 159

25 जनवरी - टोटल काउंट - 1 लाख 99 हजार 290, पॉजिटिव केस - 11 हजार 583

50 प्रतिशत कार्मिकों की उपस्थिति की व्यवस्था खत्म

केसों में आई कमी का हवाला देकर मंगलवार को प्रदेश सरकार ने सरकारी कार्यालयों में 50 प्रतिशत कर्मियों की उपस्थिति की व्यवस्था समाप्त कर दी है। अब दिव्यांग कर्मचारियों और गर्भवती को छोड़कर अब सभी कार्मिकों को कार्यालय आना होगा। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।आदेश के तहत सभी सरकारी कार्यालयों में कार्यरत शारीरिक रूप से दिव्यांग कार्मिकों और गर्भवती महिलाओं को घर से कार्य करने का मौका दिया गया है। हालांकि आवश्यकता होने पर उन्हें कार्यालय बुलाया जा सकेगा। बता दें कि प्रदेश सरकार ने कोविड की तीसरी लहर में संक्रमितों की संख्या बढ़ने पर 13 जनवरी को सभी सरकारी कार्यालयों में समूह ख, ग और घ के कार्मिकों की उपस्थिति की रोस्टर व्यवस्था लागू की थी। ऑफिस में 50 फीसदी कार्मिकों की उपस्थिति जबकि बाकी को वर्क फ्रॉम होम की अनुमति दी गई थी।

100 फीसदी बढ़ा मौत का आंकड़ा

प्रदेश में 6 जनवरी को अब तक कोरोना से होने वाली मौत की संख्या 22 हजार 917 थी। 19 दिन बाद यानी 25 जनवरी को इसमें 100 फीसदी का इजाफा होकर ये आंकड़ा 23 हजार 88 तक पहुंच गया। इस दौरान अकेले लखनऊ में दस दिनों में 9 मौत हो चुकी है। यहां अब तक कोरोना 2 हजार 657 लोगों की जान ले चुका है। हालांकि तीसरी लहर में दूसरी लहर की अपेक्षा मौत के आंकड़े कम हैं पर इसमें इजाफा लगातार हो रहा है। इसमें बढ़ोतरी का अंदेशा इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि प्रदेशभर में सबसे ज्यादा एक्टिव केस लखनऊ में ही है। यहां 16 हजार के करीब सक्रिय मामले हैं।

UP में कोरोना से मौतों का आंकड़ा

डेट मौत

6 जनवरी - 1

7 जनवरी - 1

8 जनवरी - 6

9 जनवरी - 4

10 जनवरी - 4

11 जनवरी - 5

12 जनवरी - 3

13 जनवरी - 6

14 जनवरी - 3

15 जनवरी - 4

16 जनवरी - 10

17 जनवरी - 9

18 जनवरी -12

19 जनवरी - 7

20 जनवरी - 10

21 जनवरी - 22

22 जनवरी - 17

23 जनवरी - 19

24 जनवरी - 17

25 जनवरी - 15