पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डिफेंस कॉरिडोर के कंधे पर BJP का पॉलिटिकल डिफरेंस:UP में कॉरिडोर के 6 नोड, 100 करोड़ से ज्यादा का होगा निवेश; PM बोले- अब अलीगढ़ हिंदुस्तान की रक्षा करेगा

लखनऊ11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीएम मोदी ने आज अपने अलीगढ़ दौरे पर अलीगढ़ में डिफेंस कॉरिडोर के अलीगढ़ नोड का अवलोकन किया। (इनसेट में समझें कॉरिडोर के UP में 6 नोड) - Dainik Bhaskar
पीएम मोदी ने आज अपने अलीगढ़ दौरे पर अलीगढ़ में डिफेंस कॉरिडोर के अलीगढ़ नोड का अवलोकन किया। (इनसेट में समझें कॉरिडोर के UP में 6 नोड)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार यानी आज अपने अलीगढ़ दौरे पर राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी के शिलान्यास के साथ ही डिफेंस कॉरिडोर के अलीगढ़ नोड का अवलोकन किया। इस दौरान पीएम ने कहा कि अलीगढ़ में डेढ़ दर्जन कंपनियां 100 करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश करेंगी। इससे हजारों नौकरियों के अवसर भी बनेंगे। जिससे अलीगढ़ और आस-पास के क्षेत्र को एक नई पहचान मिलेगी।

अलीगढ़ अब हिंदुस्तान की रक्षा करेगा
वहीं, पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि लोग पहले अपने घर और दुकान की सुरक्षा अलीगढ़ के ताले से करते थे, अब अलीगढ़ 21वीं सदी के हिंदुस्तान की सीमाओं की रक्षा का काम करेगा।....आखिर ये डिफेंस कॉरिडोर क्या है, और इसे कैसे बदलेगी यूपी की तस्वीर?

जानिए क्या है डिफेंस कॉरिडोर?
'मेक इन इंडिया' के तहत देश को रक्षा उत्पादों के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना इसका प्रमुख उद्देश्य है। बड़े पैमाने पर बुलेट प्रूफ जैकेट, ड्रोन, लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर, तोप और उसके गोले, मिसाइल, विभिन्न तरह की बंदूकें आदि बनाने के लिए केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय ने अलग-अलग जिलों में डिफेंस कॉरिडोर की स्थापना का फैसला 2 साल पहले लिया था। दरअसल, डिफेंस कॉरिडोर एक रूट होता है, जिसमें कई शहर शामिल होते हैं। इन शहरों में डिफेंस से जुड़े सामानों के निर्माण के लिए इंडस्ट्री विकसित की जाती है।

उत्तर प्रदेश के इन 6 शहरों में बन रहा है डिफेंस कॉरिडोर
उत्तर प्रदेश के इन 6 शहरों में बन रहा है डिफेंस कॉरिडोर

यूपी के 6 जिलों में बन रहा है डिफेंस कॉरिडोर
2018-19 के बजट भाषण में वित्त मंत्री ने देश में दो डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बनाए जाने की घोषणा की थी। इनमें से पहला तमिलनाडु के 5 और दूसरा उत्तर प्रदेश के 6 शहरों में बन रहा है। यूपी में डिफेंस कॉरिडोर के 6 नोड अलीगढ़, आगरा, कानपुर, चित्रकूट, झांसी और लखनऊ में बन रहे हैं।

डिफेंस कॉरिडोर में निवेश के लिए 100 से ज्यादा कंपनियां तैयार हैं। 30 से ज्यादा कंपनियों का करार भी हो चुका है। ये कंपनियां 50 हजार करोड़ से ज्यादा का निवेश करेंगी। अलीगढ़ में 15 कंपनियों को भूमि का आवंटन भी हो चुका है।

डिफेंस कॉरिडोर में बनेगें ये सेना का लिए समान
डिफेंस कॉरिडोर में बुलेट प्रूफ जैकेट, ड्रोन, लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर, तोप और उसके गोले, मिसाइल, विभिन्न तरह की बंदूकें आदि बनाए जाएंगे। लखनऊ में ब्रह्मोस मिसाइल बनेगा। इसके साथ ही लड़ाकू विमान, तोप, टैंक, पनडुब्बी, युद्धपोत, हेलीकॉप्टर, सैनिकों के लिए बूट, बुलेट प्रूफ जैकेट, पैराशूट, ग्लब्स आदि के उत्पादन से जुड़ी इकाइयां इन कॉरिडोर में स्थापित होंगी।

इन्हें छोटे-छोटे उपकरणों की जरूरत भी होगी, जिसे पूरा करने के लिए छोटी- छोटी इकाइयां भी स्थापित होंगी। इससे अप्रत्यक्ष तौर पर भी रोजगार मिलेंगे।करीब 1500 करोड़ रुपये की लागत से तैयार अलीगढ़ नोड में 19 इंडस्ट्रियल यूनिट्स होंगी।

रक्षा मंत्रालय कराना चाहता है उत्पादन
रक्षा मंत्रालय 101 रक्षा उत्पादों का उत्पादन आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया के तहत कराना चाहता है। नौसेना की जरूरतों के हिसाब से रक्षा उत्पाद बनाने के लिए प्राधिकरण ने नौसेना की नेवल इनोवेशन एंड इंडिजिनाइजेशन ऑर्गेनाइजेशन से भी अनुबंध किया है। कॉरिडोर में सिर्फ निजी क्षेत्र की कंपनियां ही नहीं, बल्कि रक्षा मंत्रालय के अधीनस्थ उपक्रम भी निवेश करेंगे।

खबरें और भी हैं...