रेलवे अफसर कर रहा था बेटी का शारीरिक शोषण:यूपी पुलिस दिल्ली में कर रही छापेमारी, पीड़िता का आरोप कक्षा तीन से कर रहा था आपत्तिजनक हरकतें

लखनऊ18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • सीओ अलीगंज अखिलेश सिंह थाना पुलिस की टीम संग दिल्ली पहुंचे, घर से लेकर ऑफिस तक पड़ताल शुरू
  • अगस्त 2020 में मां व भाई की हत्या में पीड़िता को पुलिस ने किया था गिरफ्तार, घर में संदिग्ध हालात में मिले थे दोनों के शव

राजधानी में एक रिश्तों को कलंकित करने वाली घटना सामने आई है। जिसमें दिल्ली में तैनात रेलवे के एक बड़े अधिकारी पर उसकी ही बेटी ने शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। लखनऊ पुलिस ने जांच के आधार पर मामला दर्ज कर आरोपी रेलवे अफसर की गिरफ्तारी के लिए शुक्रवार सुबह दस बजे से दिल्ली में दबिश व जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पीड़िता का आरोप है कि उसके पिता उसका कई सालों से शारीरिक शोषण कर रहे हैं। जब वह कक्षा तीन में थी तभी से आपत्तिजनक हरकतें करने लगे थे। परिजन भी कुछ नहीं बोलते थे। अगस्त 2020 में मां-भाई की गोली लगने से मौत के बाद पिता दिल्ली ले गए। जहां दुष्कर्म किया। अलीगंज पुलिस मुकदमा दर्ज मामले की जांच कर रही है।
बुआ की मौजूदगी में किया पिता ने दुष्कर्म
अलीगंज एसीपी अखिलेश सिंह के मुताबिक पीड़िता ने बताया सितंबर 2020 में पिता मां-भाई की हत्या के बाद दिल्ली स्थित घर ले गए। जहां उन्होंने दुष्कर्म किया। इस दौरान घर पर बुआ भी मौजूद थी। बुआ ने बचाने की जगह पिता का ख्याल रखने की बात कही। साथ ही किसी को बताने पर घर की बदनामी का हवाला देकर चुप करा दिया। वहीं पिता जान से मारने की धमकी देकर शोषण कर रहा है।
बाथरूम का दरवाजा बंद करने पर चप्पल से करता था पिटाई
पीड़िता के मुताबिक वह जब कक्षा तीन में (2013) थी तब से पिता उसको गलत नियत से छूता था। बड़े होने पर अहसास होने पर मां से बताया, लेकिन उन्होंने भी अनसुना कर दिया। इसके बाद यह सिलसिला चलता रहा। मां-भाई की मौत के बाद पिता को मौका मिल गया। इसके बाद से वह घर पर इस हालत में रखता कि बता नहीं सकती। वह बाथरूम तक के दरवाजे नहीं बंद करने देता था। बंद करने पर चप्पलों से पिटाई करते थे।
रिश्तेदार के घर आकर पुलिस को बताई आपबीती
पुलिस सूत्रों के मुताबिक पीड़िता का अलीगंज में रिश्तेदार का घर है। वहां उसने अपनी आपबीती उन्हें बताई। जिनकी मदद से पुलिस तक उसकी शिकायत पहुंची। मामले की गंभीरता को लेते हुए पुलिस ने गुरुवार रात मुकदमा दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी की प्रक्रिया शुरू कर दी।
पीड़िता पर लगे थे मां-भाई की हत्या का आरोप
पीड़िता पर भाई और मां की गोली मारकर हत्या का आरोप लगा था। घटना के वक्त घर में सिर्फ तीन लोग ही मौजूद थे। पीड़िता ने भाई और मां को गोली मारने की बात कबूल की थी। नाबालिग होने के चलते कुछ ही दिन बाद उसे नियमानुसार परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया था।
हत्या के पीछे शारीरिक शोषण ही तो नहीं, इस पर फिर शुरू हो सकती है जांच
रेलवे अधिकारी पर बेटी के गंभीर आरोपों के बाद उसकी पत्नी व बेटे की हत्या की जांच एक बार दोबारा शुरू हो सकती है। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक यदि पीड़िता के आरोप सही हैं तो इससे साफ है कि घर में शारीरिक शोषण को लेकर बहुत कुछ चल रहा था, जिसको लेकर पीड़िता के मन में आक्रोश था। अब इस जांच में इस एंगल पर भी जांच होनी चाहिए। जिससे हत्या के पीछे के चौकाने वाले तथ्य सामने आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...