यूपी पुलिस में शायर मोहम्मद अली ‘साहिल’:नौकरी और शायरी दो विपरीत धाराओं का सफर, 40 से ज्यादा पुरुस्कारों से हुए सम्मानित

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ में गोपनीय सहायक मोहम्मद अली ‘साहिल’ अपर पुलिस महानिदेशक महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन उत्तर प्रदेश में तैनात है। - Dainik Bhaskar
लखनऊ में गोपनीय सहायक मोहम्मद अली ‘साहिल’ अपर पुलिस महानिदेशक महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन उत्तर प्रदेश में तैनात है।

खाकी की जिम्मेदारी के साथ शायरी कहना और बड़ी बड़ी फहफिल में समा बांधने वाले मोहम्मद अली ‘साहिल’ यूपी पुलिस में अलग पहचान रखते है। एक तो यूपी पुलिस की जिम्मेदारी और शायरी करना दो विपरीत धाराओं के बीच अपना मुकान कायत किया। मूलत: इटावा के रहने वाले यूपी पुलिस में गोपनीय सहायक मोहम्मद अली ‘साहिल’ अपर पुलिस महानिदेशक महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन उत्तर प्रदेश में तैनात है। वर्ष 1989 से पुलिस विभाग की सेवा में हैं। राजकीय कार्य के साथ-साथ अति व्यस्ततम जीवनशैली के उपरान्त भी इनकी साहित्य के प्रति गहरी अभिरूचि है। इन्हें पुलिस विभाग द्वारा अच्छी सेवा के फलस्वरूप वर्ष 2005 में सराहनीय सेवा सम्मान तथा 2020 में उत्कृष्ट सेवा सम्मान प्रदान किया जा चुका है। राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शायर हैं व इनके द्वारा अभी तक विदेष में दोहा, क़तर के अतिरिक्त देश के विभिन्न स्थानों पर आयोजित अनेकानेक आल इण्डिया मुशायरों / कवि सम्मेलनों/ आकाशवाणी/ दूरदर्शन कार्यक्रम में शिरकत कर चुके है।

2012 में पहला तो दूसरा 2014 में गजह संग्रह प्रकाशित

मोहम्मद साहिल का प्रथम ग़ज़ल संग्रह पहला क़दम वर्ष 2012 में एवं दूसरा ग़ज़ल संग्रह किरदार वर्ष 2014 में प्रकाशित हो चुका है, जिसकी साहित्यप्रेमियों द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गयी है। साथ ही फरवरी, 2018 में इनके वीडियो ग़ज़ल एल्बम -’’तेरी सूरत’’ की लांचिंग हुई तथा मशहूर म्यूजिक कम्पनी टी-सीरीज द्वारा अपने यू-टयूब चैनल पर इस एल्बम को लाॅच किया गया है। जन-मानस की संवेदनाओं को साफ-सुथरे ढंग से शायरी में ढालकर इन्होंने उसे लोगों तक पहंुचाया है तथा यह साहित्य के माध्यम से समाज को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं। पुलिस की नौकरी और शायरी दो मुखतलिफ राहों का सफर है फिर भी साहिल बखूबी इसको अंजाम दे रहे हैं। यह फिल्म राईटर्स एसोसियेषन के सदस्य भी हैं तथा वर्तमान में नौकरी के साथ-साथ समाज के निर्बल वर्ग की सेवा में भी सक्रिय हैं।

विश्व स्तरीय शायरी समेत विभिन्न कार्यक्रम में मोहम्मद अली साहिल को 40 से ज्यादा बार सम्मानित किया जा चुका है। अब तक मिले पुरुस्कारों में काव्यश्री सम्मान, युवा रत्न एवार्ड, जश्न-ए-ग़ज़ल, अवध गौरव सम्मान, कर्मयोगी सम्मान, अकबर इलाहाबादी एवार्ड, काव्य मनीषी सम्मान, साहित्य जवाहर सम्मान, ह्यूमन एवार्ड, युवा रत्न शिखर एवार्ड, फिराक़ गोरखपुरी सम्मान, सृजन स्वर्ण सम्मान, शान-ए-उत्तर प्रदेश सम्मान, रोटरी वल्र्ड पीस एवार्ड, यशस्वी सम्मान, समर्थ सम्मान, उत्तर प्रदेश गौरव सम्मान जैसे अनेकों सम्मान/पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...