पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूपी मे पैरेंट्स को बड़ी राहत:एडमिशन फीस छोड़ने को तैयार हुए स्कूल,अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का निर्णय

लखनऊ17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सत्र 2021 - 22 में एडमिशन फीस न लेने का निर्णय किया है - Dainik Bhaskar
अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सत्र 2021 - 22 में एडमिशन फीस न लेने का निर्णय किया है

इसे महामारी के दौर में स्कूलों की तरफ से सौगात मानी जाएं या फिर सीट भरने की मजबूरी पर फिलहाल उत्तर प्रदेश में पैरेंट्स को बड़ी राहत मिलती नज़र आ रही है।निजी स्कूल एसोसिएशन ने दाखिला फीस में राहत देने का निर्णय लिया है।इसके तहत स्कूल बच्चों की एडमिशन फीस नहीं लेंगे।

अभी तक स्कूलो में दाखिले के समय और एक क्लास से अगली क्लास में जाने के दौरान अभिभावकों को एडमिशन फीस देनी पड़ती रही है।स्कूल इसे अनिवार्य मानते थे पर बीते वर्ष से कोरोना संक्रमण से उपजे हालात से स्कूलो में ताले पड़ गए।इसके चलते बच्चों का स्कूल जाना बंद हो गया।खासकर छोटे बच्चों के दाखिले भी ठंडे बस्ते में चले गए।इस बीच कोरोना संक्रमण के कारण अभिभावकों ने अपने बच्चों के दाखिल नहीं कराए।हालात कुछ ऐसे पैदा हुए की स्कूलों में स्टूडेंट्स दिखने ही बंद हो गए।धीरे-धीरे एक साल बीत गया। अब जब नए सत्र 2021-2022 को लेकर स्कूलों ने प्लानिंग की तो हालत और भी विपरीत नज़र आए। दाखिले कि स्थिति न के बराबर होने के कारण, स्कूलों को अभिभावकों को बड़ी राहत देने का निर्णय लेना पड़ा। इसकी तहत स्कूलों में इस नए सत्र में नए बच्चो से एडमिशन फीस और पुराने बच्चों के रीएडमिशन फीस को पूरी तरह न लेने का निर्णय लिया है।

अनएडेड प्राइवेट स्कूल का निर्णय -

अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल के मुताबिक यह वर्ष सभी के लिए संकट भरा रहा।कई लोगो की नौकरी चली गई तो तमाम लोगों के वेतन आधे हो गए।स्कूल भी समाज की इन बड़ी समस्याओ को अच्छी तरह समझ रहे इसलिए निजी स्कूल एसोसिएशन की तरफ से यह निर्णय लिया गया है कि इस बार एडमिशन फीस नहीं ली जाएगी।यह सभी के लिए लागू होगा।

एडमिशन फीस छोड़ने पर क्या है अनएडेड प्राइवेट स्कूल के तर्क -

अनएडेड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के प्रभारी व प्रेजिडेंट अनिल अग्रवाल ने भास्कर को बताया कि इस बार ज्यादातर स्कूलों में दाखिले की समय सीमा 15 अगस्त तक है,कोरोना के कारण सत्र की शुरुआत में देरी हुई है इसीलिए एडमिशन अभी भी चल रहे है।उनके खुद के स्कूल सेंट जोसेफ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स, लखनऊ में बिगड़े हालात को देखते हुए यह निर्णय सत्र की शुरुआत से ही ले लिया गया था पर अब एसोसिएशन के भी कई स्कूलों ने इस पर हामी भरी है।इस निर्णय से उन पैरेंट्स को जरुर लाभ मिलेगा जिन्होंने अभी तक अपने बच्चे का दाखिला नही कराया या फिर किसी अन्य कारण स्टूडेंट एडमिशन से वंचित रह गए हो।हालांकि जिन बच्चों से पहले ही एडमिशन फीस वसूल ली गई है उनकी फीस वापसी भी होगी के सवाल पर उन्होंने कहां कि यह निर्णय संबंधित स्कूल को ही लेना है।

खबरें और भी हैं...