यूपी ATS ने दो मानव तस्करों को पकड़ा:रोहिंग्या और बांग्लादेशी नागरिकों को विदेश में बेचते थे, ट्रांजिट रिमांड पर लाए जाएंगे लखनऊ

लखनऊ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यूपी ATS ने पश्चिम बंगाल में कार्रवाई करते हुए दो मानव तस्करों को गिरफ्तार किया - Dainik Bhaskar
यूपी ATS ने पश्चिम बंगाल में कार्रवाई करते हुए दो मानव तस्करों को गिरफ्तार किया

यूपी ATS ने पश्चिम बंगाल में कार्रवाई करते हुए दो मानव तस्करों को गिरफ्तार किया है। दोनों कुछ दिनों पहले पकड़े गए गिरोह के सक्रिय सदस्य हैं। इन्हें लखनऊ लाने के लिए ट्रांजिट रिमांड की अर्जी कोलकाता कोर्ट में दी गई है। मोहम्मद जमील उर्फ हरिशुल्ला और नूर अमीन को कोलकाता से गिरफ्तार किया गया है। यह रोहिंग्या और बांग्लादेशी नागरिकों को विदेश में बेचने वाले गिरोह के सदस्य हैं। यह रोहिंग्या नागरिकों को अवैध तरीके से बॉर्डर पार कराकर वेस्ट बंगाल में दाखिल करवाते थे। यहाँ से उन्हें यूपी सहित अन्य प्रदेश ले जाते जहाँ से फर्जी दस्तावेजों पर पासपोर्ट और वीजा बनवाकर उन्हें विदेश भेजा जा रहा था।

गिरोह के 7 सदस्यों को एटीएस भेज चुकी है जेल

ATS ने मानव तस्करी गिरोह के मिथुन मंडल, शाओन अहमद, मोमिनुर इस्लाम और मेहंदी हसन को 10 नवंबर को गिरफ्तार किया था। इसके बाद इनके सहयोगी समीर मंडल और विक्रम सिंह को गिरफ्तार किया गया। सभी आरोपी वेस्ट बंगाल के रहने वाले हैं। विक्रम की निशानदेही पर दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट के कर्मचारी अजय घिल्डियाल को सहारनपुर से पकड़ा गया था। सभी आरोपी जेल में हैं। विक्रम और समीर को रिमांड पर लेकर ATS ने पूछताछ की तो मोहम्मद जमील और नूर के बारे में जानकारी हुई।

अवैध तरीके से भेजते थे विदेश

जमील उर्फ हारिशुल्ला खुद रोहिंग्या है और रोहिग्या लोगों को अवैध रूप से विदेश भेजने का काम करता है। जमील उर्फ हारिशुल्ला के निशानदेही पर उसका रिश्तेदार रोहिंग्या नूर अमीन जो सुदीप मैती नाम से हरिहरनगर जॉयपुर हसखाली जनपद नादिया बंगाल में रह रहा था, को गिरफ्तार किया गया। पकड़े गए अभियुक्तों के पास से जाली भारतीय पासपोर्ट, आधार कार्ड, वोटर आईडी, पैन कार्ड, यूएनएचसीआर कार्ड, म्यांमार सरकार द्वारा जारी परिवार रजिस्ट्रर की नकल की छायाप्रति, 100-100 के तीन नोट व 500 का एक नोट बांग्लादेशी मिले हैं।

खबरें और भी हैं...