UP TET का भ्रष्ट सिस्टम:5 लाख में परीक्षा दिए बिना पास होने की गारंटी, नकल के लिए 2 लाख... पर्चे भी बिकते हैं

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में परीक्षा का पूरा सिस्टम ही करप्ट हो चुका है। यूपी TET का पर्चा लीक होने के दिन ही यहां एसटीएफ ने परीक्षा में सेंधमारी करने वाले अलग-अलग गिरोह का पर्दाफाश किया है। शामली, मेरठ, प्रयागराज और लखनऊ में पर्चे बिक रहे थे। अयोध्या में अभ्यर्थियों की जगह परीक्षा देने वाले सॉल्वर पकड़े गए। गिरोह के कई लोग परीक्षा केंद्र में सेटिंग करके नकल की भी पूरी गारंटी दे रहे हैं।

परीक्षा में सेंधमारी के 3 मॉडल

सॉल्वर गैंग- रेट 5 लाख
अभ्यर्थी को परीक्षा में नहीं बैठना है। उनकी जगह गैंग का गुर्गा परीक्षा देता है।

पेपर लीक- 50 हजार से 2 लाख
अभ्यर्थी को एग्जाम के पहले पर्चा मिल जाता है। एसटीएफ ने जिन सॉल्वर्स को पकड़ा है, उनके मोबाइल से पर्चे भी मिले हैं। इसका मतलब साफ है कि सॉल्वर्स को पहले से पेपर मिल जाता है।

नकल की गारंटी- 2 लाख
अभ्यर्थियों को नकल की पूरी गारंटी दी जाती है। सॉल्वर्स को वहां बैठाया जाता है, जहां से वे नकल करा सकें

जानिए यूपी TET में सेंधमारी के अलग-अलग किरदारों को….

सबसे पहले शामली….
यहां से तीन लोगों को गिरफ्तार किया। 5 लाख में पेपर खरीदकर ये खुले बाजार में बेच रहे थे। 60 लोगों को पेपर बेचे जाने की जानकारी सामने आई है।

एजुकेशन हब प्रयागराज में सक्रिय था पूरा गैंग

लखनऊ में भी बेचे जा रहे थे पर्चे, सॉल्वर भी
रोशन सिंह पटेल कौशांबी में लैब टेक्नीशियन है। 2018 में इसकी मुलाकात बलिया के प्रभात कुमार से हुई। रोशन को लखनऊ के संतोष कुमार ने वाट्सएप पर पर्चा भेजा था। सौदे के मुताबिक प्रति अभ्यर्थी रोशन ने 80 हजार रुप में पर्चा भेजा। इसमें 50 हजार रुपए संतोष को देना था।

अब तक अलग-अलग शहरों से 30 गिरफ्तारी हो चुकी है। एसटीएफ की कार्रवाई जारी है।