पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेटे की गिरफ्तारी पर उलझन में मुनव्वर राना:सुबह बोले- सरकार के लिए हर मुसलमान आतंकी; अब PM मोदी से कहा- मेरे रास्ते में जन्नत पड़ रही है, मगर तेरी जरूरत पड़ रही है

लखनऊएक महीने पहले

खुद पर हमला करवाकर चाचा को फंसाने के आरोप में बेटे तबरेज की बुधवार रात को गिरफ्तारी के बाद शायर मुनव्वर राना काफी उलझन में दिख रहे हैं। मुनव्वर लगातार एक के बाद एक कई तरह के बयान दे रहे हैं। गुरुवार को ही उनके दो नए बयान सामने आए। सुबह मीडिया से बातचीत में उन्होंने सरकार पर हमला बोला। बोले, इस सरकार की नजर में हर मुसलमान आतंकवादी है। कोई भी सरकार पांच साल से ज्यादा की नहीं होनी चाहिए।

हालांकि, शाम होते ही उनके सुर बदल गए। उन्होंने वीडियो के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई। कहा- मोदी जी, मैं मुसीबत में हूं। इसलिए मैं अपनी बात आप तक पहुंचा रहा हूं। शायराना अंदाज में मुनव्वर ने कहा, मेरे रस्ते में जन्नत पड़ रही है, मगर तेरी जरूरत पड़ रही है।' उधर, शाम को रायबरेली की CJM कोर्ट ने तबरेज को 20-20 हजार के मुचलके में जमानत दे दी है। वह देर शाम तक जेल से रिहा हो जाएंगे।

मोदी जी ने कहा था- मेरे लायक कोई सेवा हो तो बताइएगा
मीडिया से बातचीत करते हुए मुनव्वर ने कहा, 'दिल्ली एम्स में मेरा ऑपरेशन होना था। तब प्रधानमंत्री जी ने मुझसे कहा था कि मेरे लायक कोई सेवा या काम हो तो मुझे बताइएगा। उस वक्त मैंने कहा था कि नहीं साहब। अभी मेरा एडमिशन एम्स में हो गया है। अगर कभी परेशानी होगी तो आपके पास ही आएंगे। हम तो भिक्षा पात्र हैं... आपके सिवाय कहां जाएंगे?

तब उन्होंने मुझसे ये भी कहा था कि ठीक होने के बाद आपसे मुलाकात होगी। तब मैंने उन्हें एक शेर सुनाया... जहां मैं हूं, वहां आवाज देना जुर्म ठहरा है, जहां तुम हो वहां पांव की आहट नहीं आती है। तब PM ने कहा कि ये न कहिए। आपको जब मेरी जरूरत हो, एक ट्वीट कर दीजिएगा...खत लिख दीजिएगा... ऐसा नहीं होगा कि मैं आपको जवाब न दूं।'

मुनव्वर ने आगे कहा, 'मैं आज उनको (प्रधानमंत्री मोदी) खबरदार कर रहा हूं कि आज मैं वाकई मुसीबत में हूं। मेरे रस्ते में जन्नत पड़ रही है, मगर तेरी जरूरत पड़ रही है।'

बेटे ने खुद पर करवाया था हमला
रायबरेली में 28 जून की शाम तबरेज ने खुद पर फायरिंग करवाई थी। इसके बाद तबरेज ने अपने चाचा और चचेरे भाई के खिलाफ FIR दर्ज करवाई थी। हालांकि, जब पुलिस ने जांच की तो मामला फर्जी निकला। जांच में पता चला कि मुनव्वर और उनके भाइयों के बीच 8 करोड़ की कीमत वाली पुश्तैनी जमीन को लेकर विवाद चल रहा है।

तबरेज ने अपने चाचा पर दबाव बनाने के लिए खुद पर हमले की साजिश रची थी। बाद में पुलिस ने तबरेज की इस साजिश में शामिल 4 युवकों को पकड़कर जेल भेज दिया था, जबकि तबरेज फरार हो गया था। उसकी तलाश में पुलिस ने लखनऊ में मुनव्वर राना के घर पर भी छापेमारी की थी। बुधवार को पुलिस ने तबरेज को लखनऊ से गिरफ्तार किया था।

प्लानिंग का वीडियो भी पुलिस ने किया था जारी
तबरेज पर हमले से जुड़े रायबरेली पुलिस ने दो वीडियो जारी किए थे। पहले वीडियो में तबरेज शूटर्स के साथ मिलकर होटल ओम क्लार्क के सामने खुद पर हमले की प्लानिंग कर रहा था। वहीं, दूसरे वीडियो में तबरेज अपनी गाड़ी से पेट्रोल पंप पहुंचता हुआ दिखाई दे रहा था।

पंप से कुछ दूरी पर ही उसने गाड़ी रोकी। थोड़ी देर बाद बाइक से दो लोग आए। कार के पीछे से घूमकर सामने आए और फायरिंग की। उस वक्त तबरेज गाड़ी रोककर बाहर खड़ा था। नाटकीय अंदाज में दोनों ने तबरेज की कार पर गोली चलाई थी।

खबरें और भी हैं...