लखनऊ में नकली दवाओं का कारोबारी गिरफ्तार:मुरादाबाद की कंपनी से नकली दवाएं करता था सप्लाई, पुलिस ने गोदाम से भारी मात्रा में दवाई बरामद की

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखनऊ पुलिस ने बुधवार को नकली दवाओं के कारोबारी को गिरफ्तार किया हैं। उसके पास से भारी मात्रा में नकली दवाइयां बरामद हुई हैं। पुलिस नकली दवाओं के कारोबार की जड़ तक जाने के लिए पूछताछ कर रही है।

अमीनाबाद पुलिस को सूचना मिली थी उसी क्षेत्र से नकली दवाओं का कारोबार चल रहा है। इसपर तड़के पुलिस ने मौलवीगंज के मकान में छापा मारा। यहाँ से आसिफ नाम के युवक को गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक आसिफ मुरादाबाद से यह दवाएं लाकर यहाँ सप्लाई करता था। इसमे कुछ जीवनरक्षक दवाओं के साथ यौनवर्धक कैप्सूल और टेबलेट्स हैं। यह नकली दवाएं कितनी घातक हैं इसकी जानकारी के लिए पकड़ी गई दवाओं के सैम्पल केजीएमयू भेजे जा रहे हैं। पुलिस का कहना है कि इन जनलेवा दवाओं को बनाने वालों से लेकर इन्हें बेचने वाले मेडिकल स्टोर तक का पता लगाया जा रहा है। लखनऊ में किन दुकानों पर यह दवाइयां बिक रही थी इसका पता लगाया जा रहा है।

टाइगर किंग ब्रांड की शक्ल में बेच रहा था जहर

अमीनाबाद पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आसिफ रजा मुरादाबाद के बहेड़ी गाँव का रहने वाला है। वह पहले उसी गाँव के कामिल हसन की आयुर्वेदिक दवाओं की फार्मासूटिकल कम्पनी नमन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में पार्टनर था। लेनदेन के विवाद में वह अगल हो गया और इसी कम्पनी के टाइगर ब्रांड की नकली दवाएं बनाकर बाजार में बेचने लगा। कामिल को जानकारी हुई तो उसने पुलिस को सूचना दी। बुधवार को आसिफ दवाओं की सप्लाई देने लखनऊ आया था। यहाँ उसके ठिकाने से पकड़ा गया। अभी तक करीब सौ डिब्बा दवाएं बरामद की गई हैं।

​​​