पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदायूं में जहरीली शराब का कहर:तीन ग्रामीणों की मौत, एक ने आंखों की रोशनी गंवाई; सपा ने 20 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग उठाई

बदायूंएक महीने पहले
अपनों की मौत के बाद रोते बिलखते परिजन।
  • मूसाझाग थाना क्षेत्र के तिकुलापुर गांव का मामला, डीएम और एसपी ने गांव का किया दौर
  • शराब बांटने के आरोपी दोनों प्रधान उम्मीदवारों को पुलिस ने हिरासत में लिया

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव की सरगर्मियां ज्यों-ज्यों तेज हो रही है, वैसे-वैसे जहरीली शराब का कहर बढ़ता है। प्रतापगढ़, अयोध्या के बाद अब बदायूं में शराब पीने से तीन व्यक्तियों की मौत हो गई। जबकि एक शख्स की आंख की रोशनी चली गई। बताया जा रहा है कि प्रधान पद के प्रत्याशी रोजाना लोगों को शराब पिला रहे हैं। इस प्रकरण को लेकर सियासत भी जारी है। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष ने पुलिस व आबकारी विभाग की शराब माफिया से मिलीभगत का आरोप लगाया है। उन्होंने मृतक के परिजनों को 20-20 लाख रुपए की आर्थिक मदद दिए जाने की मांग की है।

एक अधेड़ का परिवार ने किया अंतिम संस्कार

मूसाझाग थाना क्षेत्र के तिकुलापुर गांव निवासी मुन्नालाल (50 साल) की गुरुवार को शराब पीने से मौत हो गई थी। इसकी सूचना जिला प्रशासन को नहीं दी गई थी। परिवार वालों ने अंतिम संस्कार कर दिया था। इसी बीच गुरुवार रात गांव निवासी संजय मौर्य (30 साल) और शुक्रवार सुबह प्रेमदास (50 साल) ने दम तोड़ दिया। उधर, अमर सिंह (28 साल) की आंखों की रोशनी चली गई। उसे जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

ग्रामीणों का आरोप है कि प्रधान पक्ष के दो उम्मीदवार आमने सामने हैं। दोनों ही बड़े दमदार तरीके से अपना चुनाव लड़ रहे हैं। इसी के चलते दोनों लोग पूरे गांव में शराब भी बंटवा रहे थे। जिसका सेवन इन ग्रामीणों द्वारा किया गया था।

जब दो और मरे तब शराब से मौत की बात समझ आई

मृतक मुन्ना लाल की पत्नी कलावती और उसके भाई ने बताया कि प्रधान प्रत्याशियों की तरफ से शराब भेजी गई थी। जिसके पीने के बाद मुन्ना की तबियत खराब हुई, फिर मौत हुई। आज जब गांव में दो और लोग खत्म हो गए तब हमें शराब से मौत होने की बात समझ आई है।

सपा ने मिलीभगत का आरोप लगाया

लोगों का कहना है कि शाहजहांपुर जनपद की सीमा पर एक शराब माफिया काम कर रहा है, जो इस तरह की अवैध शराब को सप्लाई करता है। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रेमपाल ने पुलिस और आबकारी विभाग पर शराब माफिया से मिलीभगत का आरोप लगाया है। कहा कि बिना इन दोनों महकमों की मिली भगत से अवैध शराब की तस्करी नहीं हो सकती। मृतक के परिजनों को 20-20 लाख रुपए आर्थिक मुआवजा दिया जाए।

पुलिस ने प्रधान उम्मीदवारों को हिरासत में लिया

पुलिस ने इस प्रकरण में केस दर्ज किया है। दोनों प्रधान प्रत्याशियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। डीएम दीपा रंजन व एसएसपी संकल्प शर्मा, एसडीएम दातागंज पारसनाथ मौर्य, एसपी सिटी प्रवीन सिंह चौहान समेत कई अफसरों ने प्रभावित गांव का दौरा किया। डीएम व एसएसपी ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें