अमेठी की ब्लैक फंगस महिला मरीज से रेप का केस:रेफरल अस्पताल पहुंची लखनऊ पुलिस, कोविड वार्ड के सीसीटीवी फुटेज खंगाले, अस्पताल प्रबंधन बोला- अस्पताल में कोई घटना नहीं हुई

लखनऊ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लोहिया अस्पताल प्रबंधन का कहन� - Dainik Bhaskar
लोहिया अस्पताल प्रबंधन का कहन�

लखनऊ के लोहिया संस्थान में कथित रेप पीड़िता महिला की रविवार को मौत के बाद सोमवार को लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस अस्पताल पहुंची। लोहिया संस्थान के शहीद पथ स्थित मातृ शिशु रेफरल (कोविड हॉस्पिटल) हॉस्पिटल में लगे सीसीटीवी फुटेज को पुलिस ने खंगाला।इस दौरान हॉस्पिटल की मेडिकल टीम भी मौके पर रही। हालांकि पुलिस अभी जांच जारी होने की बात कह रही है। अस्पताल प्रशासन पूरी तरह से मेडिकल टीम को क्लीन चिट देता नज़र आ रहा है।

लोहिया संस्थान के प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश सिंह ने बताया कि सोमवार सुबह लखनऊ कमिशनरेट पुलिस अस्पताल परिसर आई थी। इस दौरान सीसीटीवी फुटेज को भी पुलिस टीम ने परखा। फुटेज में महिला के साथ कोई घटना अस्पताल परिसर में घटित होने की जानकारी सामने नहीं आई है।

स्मृति ईरानी से की थी परिजनों ने शिकायत

अमेठी के गौरीगंज निवासी 40 वर्षीय महिला की छह जून को तबीयत खराब हो गई थी।महिला के परिवारीजनों ने उसे पहले गौरीगंज के संयुक्त जिला अस्पताल में भर्ती कराया।बाद में तबीयत बिगड़ने पर महिला को लोहिया संस्थान रेफर कर दिया गया।परिवारीजन महिला को लेकर लोहिया की इमरजेंसी में पहुंचे।जहां जांच में कोरोना संक्रमण और ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई। इसके बाद लोहिया संस्थान से महिला को शहीद पथ स्थित मातृ शिशु रेफरल (कोविड हॉस्पिटल) हॉस्पिटल शिफ्ट कर दिया गया।अस्पताल में महिला को भर्ती किया गया। परिजनों का आरोप था कि कोविड अस्पताल में डॉक्टरों ने तीमारदारों को मरीज के साथ रुकने से रोका दिया। काफी फ़रियाद के बाद परिजन को मरीज से मिलने दिया गया।महिला की हालत खराब थी। महिला ने बताया कि डॉक्टर व कर्मचारी ने उसे मारा-पीटा है। उसके साथ छेड़छाड़ व रेप की घटना को अंजाम दिया गया है। घबराए परिवारजनों ने आनन-फानन में शुक्रवार को मरीज को डिस्चार्ज करा लिया।उन लोगों ने मरीज को गौरीगंज स्थित जिला अस्पताल में भर्ती कराया। इसी बीच शनिवार को ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ करने अमेठी पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से पीड़िता के परिजनों ने मुलाकात की। महिला की बहन ने रो-रोकर स्मृति से फरियाद की, जिसके बाद स्मृति ने डीएम, एसपी और सीएमओ से मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए। अमेठी के जिलाधिकारी ने जांच कमेटी का गठन कर दिया था। इस बीच अमेठी में भर्ती महिला की तबीयत बिगड़ती देख चिकित्सकों ने उसे लखनऊ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। जहां ले जाते हुए रविवार को रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया था। हालांकि अमेठी पुलिस से मामले की सूचना पाकर सोमवार को लखनऊ कमिशनरेट टीम सोमवार को अस्पताल परिसर पहुंची थी।

खबरें और भी हैं...