पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Uttar Pradesh, Lucknow, On Yogi's Birthday, The Voice Of Youth Get Degree, Give Employment, Government Filled 5 Lakh Vacant Posts, Give Dearness Allowance Of Rs 4 Thousand Per Month

UP में ट्रेंड हुआ बेरोजगार दिवस:योगी के जन्मदिन पर युवाओं की आवाज- डिग्री लो रोजगार दो, 5 लाख रिक्त पद भरे सरकार

लखनऊ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उत्तरप्रदेश के युवाओं ने 5 जून को सोशल मीडिया पर अलग-अलग कैंपेन चलाकर योगी सरकार को चुनाव से पहले किया गया रोजगार देने का वादा याद दिलाया। - Dainik Bhaskar
उत्तरप्रदेश के युवाओं ने 5 जून को सोशल मीडिया पर अलग-अलग कैंपेन चलाकर योगी सरकार को चुनाव से पहले किया गया रोजगार देने का वादा याद दिलाया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन 5 जून को बेरोजगार युवाओं ने "डिग्री लो रोजगार दो" की मांग कर 'यूपी बेरोजगार दिवस' के रूप में मनाया। लाखों युवाओं ने इसे सोशल मीडिया पर ट्रेंड कराया। इस अभियान के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के ट्विटर हैंडल पर प्रदेश के सेवायोजन पोर्टल में पंजीकृत बेरोजगार युवाओं, प्रतियोगी छात्रों, लंबित भर्तियों के अभ्यर्थियों ने अपनी मांगें रखी।

युवाओं का सवाल 5 लाख पद खाली, फिर भर्ती क्यों नहीं

दरअसल, यूपी में बेरोजगारों ने "युवा शक्ति संगठन" बनाया है। इस संगठन का दावा है कि यूपी सरकार ने पिछले दिसंबर माह में सभी सरकारी विभागों से रिक्त पदों का ब्योरा मांगा था। इसके आधार पर शिक्षा, स्वास्थ्य, पुलिस, राजस्व, ऊर्जा जैसे कई महत्वपूर्ण विभागों में 5 लाख पद खाली पड़े हैं, जिसमें शिक्षकों के पदों को छोड़ दें तो 3.25 लाख पद राज्य कर्मचारियों के रिक्त पड़े हैं, परन्तु दुर्भाग्यपूर्ण है उत्तर प्रदेश सरकार करोड़ों शिक्षित बेरोजगार युवाओं के भविष्य के साथ अन्याय कर रही है। वर्तमान परिवेश में यूपी में बेरोजगारी दर 7 प्रतिशत से ऊपर पहुंच चुकी है। प्रदेश में अनुमानित 2 करोड़ शिक्षित युवा बेरोजगार हैं। उनका सवाल है कि फिर भी भर्तियां क्यों नहीं की जा रही हैं?

सोशल मीडिया पर बेरोजगार युवाओं ने इस तरह से रखी अपनी बात।
सोशल मीडिया पर बेरोजगार युवाओं ने इस तरह से रखी अपनी बात।

2017 में बीजेपी ने किया था हर नौजवान को रोजगार देने का वादा

युवा शक्ति संगठन का दावा है कि 2017 विधानसभा के घोषणा पत्र में बीजेपी द्वारा प्रदेश के प्रत्येक नौजवान को रोजगार देने का वादा किया गया था परन्तु दुखद है कि सत्ता पाने के बाद सरकार की वादों को भूलने की आदत हो गई है। जिन भर्तियां के आवेदन आते भी हैं वह पूर्ण होकर नियुक्ति प्रक्रिया तक नहीं पहुंचती हैं, या तो कोर्ट में उलझ जाती है या पेपर लीक हो जाता है। राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार हर घंटे 1 बेरोजगार युवा आत्महत्या करने को मजबुर है। मुख्यमंत्री के जन्मदिन पर प्रदेश के युवाओं ने अपनी डिग्रियां सीएम को भेजकर 2017 के चुनावी घोषणा पत्र में किए गए रोजगार देने के वादे को याद दिलाने की मांग की।

युवाओं का कहना है कि अब उन्हें भाषण नहीं रोजगार चाहिए।
युवाओं का कहना है कि अब उन्हें भाषण नहीं रोजगार चाहिए।
खबरें और भी हैं...