• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Uttar Pradesh Opening Of New Medical Colleges And Meeting Faculty Requirement The Number Of Medical Colleges Is Increasing In The State, The Crisis Of Shortage Of Faculty Continues, How Will Such Capable Doctors In UP Be Prepared?

यूपी में 34 मेडिकल कॉलेज लेकिन अस्पतालों में डॉक्टर नहीं:PGI, KGMU में 20% और जिला अस्पतालों में 40% डॉक्टर्स के पद खाली...नए डॉक्टर्स कहां से लाएंगे

लखनऊ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आज यानी 25 अक्टूबर को पीएम मोदी उत्तर प्रदेश के 9 नए मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण करेंगे। इसी के साथ यूपी में मेडिकल कॉलेजों की संख्या 34 हो जाएगी, जो कि देश के किसी भी राज्य से सबसे ज्यादा है। इन मेडिकल कॉलेजों को पूरा फायदा आम आदमी को मिल पाएगा या नहीं... ये सवाल अब भी बरकरार है। वजह फैकल्टी, यानी इन मेडिकल कॉलेजों में डॉक्टर्स कहां से लाएंगे? मौजूदा हालात ये है कि PGI, KGMU और लोहिया जैसे नामी संस्थानों में भी 20 फीसदी तक डॉक्टर्स के पद खाली हैं। जिला अस्पतालों में भी 7200 डॉक्टर्स कम हैं। ऐसे में नए मेडिकल कॉलेज के लिए कहां से डॉक्टर्स आएंगे?

हालांकि, इस सवाल पर स्वास्थ्य विभाग के एक अफसर कहते हैं कि नए मेडिकल कॉलेजों में अभी सिर्फ MBBS प्रथम वर्ष की पढ़ाई शुरू हो रही है। फर्स्ट इयर की पढ़ाई शुरू करने के लिए हमें एक कॉलेज में सिर्फ 7 फैकल्टी चाहिए। इसका बंदोबस्त हो गया है। इसी आधार पर नेशनल मेडिकल काउंसिल ने अप्रुवल दिया है। धीरे-धीरे क्लासेस बढेंगी तो फैकल्टी रिक्रूटमेंट होती जाएगी।

अभी देश में सबसे ज्यादा मेडिकल कॉलेज तमिलनाडु-महाराष्ट्र में

देश मे मेडिकल क्षेत्र में दक्षिण राज्यों का दबदबा है। दक्षिण के राज्यों में ही सबसे ज्यादा मेडिकल कॉलेज हैं, पर अब ट्रेंड बदल रहा है। एक्सपर्ट्स की मानें तो देश में इस समय सरकारी मेडिकल कॉलेजों के मामले में अभी तक तमिलनाडु और महाराष्ट्र टॉप पर हैं, जहां 25-25 मेडिकल कॉलेज हैं। वहीं यूपी की योगी सरकार का लक्ष्य हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज खोलने का है। इसके लिए कई जिलों में वहां के जिला अस्पतालों में ही हाईटेक व्यवस्था कर उन्हें मेडिकल कॉलेजों में परिवर्तित किया जा रहा है। विभागीय अफसरों का दावा है कि प्रदेश के यह सभी 9 नए मेडिकल कॉलेज एक साथ बनकर तैयार हैं। जल्द ही इन अस्पतालों में कामकाज भी शुरू हो जाएगा। साथ ही NMC के द्वारा दो बार किए गए विजिट में तमाम पहलुओं पर गहनता से परखने के बाद ही अनुमति दी गई है।

प्रदेश के नामी संस्थानों में भी पूरे डॉक्टर्स नहीं

  • KGMU में डॉक्टरों के करीब 500 पद स्वीकृत है,जिसमें अभी 15 फीसदी पद खाली हैं
  • वही SGPGI में चिकित्सकों के करीब 250 पद है,जिनमें से करीब 20 फीसदी खाली है
  • यही हाल लोहिया संस्थान का भी है,यहां भी चिकित्सकों के करीब 20 फीसदी पद खाली है

सरकारी अस्पतालों में भी कम हैं डॉक्टर्स

पीएमएस यानी प्रोविंशियल मेडिकल संघ के प्रभारी डॉ अमित सिंह के मुताबिक यूपी में सरकारी जिला अस्पतालों में डॉक्टरों के स्वीकृत पद 18700 हैं, वर्तमान तैनाती महज 11500 है। यानी किल्लत यहां भी है।

प्रतापगढ़ में तैयार मेडिकल कॉलेज। यहां इसी सत्र से एमबीबीएस प्रथम वर्ष की क्लास शुरू हो जाएगी।
प्रतापगढ़ में तैयार मेडिकल कॉलेज। यहां इसी सत्र से एमबीबीएस प्रथम वर्ष की क्लास शुरू हो जाएगी।

एक नजर - प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में यूजी - पीजी की सीटों पर -

अभी तक प्रदेश में कुल 22 सरकारी मेडिकल कॉलेज में 2 हजार 928 MBBS सीटें हैं। आज 9 कॉलेजों के लोकार्पण के बाद से MBBS कुल सीट 3828 हो जाएगी। एमडी-एमएस, पीजी डिप्लोमा की 1027 सरकारी सीटों पर प्रवेश दिया जाता है, पर इस साल उसमें भी इजाफा हो रहा है।

अस्पतालों में भी हैं मेडिकल - पीजी की 88 सीटें

शाहजहांपुर अस्पताल में 12 सीटें हैं तो वहीं, फिरोजाबाद में 12, अयोध्या में 10 सीटें हैं। लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल में 8 सीटें, लोहिया अस्पताल में 2, बदायूं में 4, अंबेडकर नगर में 6, बरेली में 2, बस्ती में 8, प्रयागराज में 6, मेरठ में 1, वाराणसी में 6, कानपुर में 7, लखनऊ के डफरिन अस्पताल में 4 सीटें हैं। इन जिलों के अस्पतालों में कुल 88 पीजी की सीटें हैं।

जानिए मेडिकल कॉलेजों की स्थिति

1.KGMU - लखनऊ

स्थापित वर्ष 1911,

यूजी - एमबीबीएस - 1911,

पीजी - 272,

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 56

2. सरोजिनी नायडू मेडिकल कॉलेज, आगरा

स्थापित वर्ष 1854, मान्यता वर्ष 1947

यूजी - एमबीबीएस 128

PG - 103

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

3. कानपुर मेडिकल कॉलेज, कानपुर

स्थापित वर्ष 1956

यूजी - एमबीबीएस 250

PG - 110

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 17

4. प्रयागराज मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 1961,

यूजी - एमबीबीएस 200

PG - 126

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 1

5. मेरठ मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 1966,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG - 69

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 1

6.झांसी मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 1968,

यूजी - एमबीबीएस 150

PG - 74

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

7. बीआरडी मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर

स्थापित वर्ष 1972,

यूजी - एमबीबीएस 150

PG - 95

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

8. SGPGI - लखनऊ

स्थापित वर्ष 1983,

यूजी - एमबीबीएस -

PG - 41

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 81

9. मानसिंह रोग संस्थान, आगरा

स्थापित वर्ष 1995,

यूजी - एमबीबीएस -

PG - 2

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

10. सैफई मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2006,

यूजी - एमबीबीएस 200

PG - 83

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 1

11. अंबेडकर नगर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2011,

यूजी - एमबीबीएस - 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

12. कन्नौज मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2012,

यूजी - एमबीबीएस - 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

13. आजमगढ़ मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2013,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

14. जालौन मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2013,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

15. सहारनपुर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2015,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

16. बांदा मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2016,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

17. सुपर स्पेशलिटी बाल रोग चिकित्सालय , नोएडा

स्थापित वर्ष 2015,

यूजी - एमबीबीएस

PG - 6

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 1

18. डॉ.राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान - लखनऊ

स्थापित वर्ष 2017,

यूजी - एमबीबीएस 200

PG - 31

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) - 19

19. बदायूं मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

20. ग्रेटर नोएडा मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

21. अयोध्या मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

22. बस्ती मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

23. बहराइच मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

24. फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

25. शाहजहांपुर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2019,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

26. फतेहपुर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

27. गाजीपुर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

28. सिद्धार्थनगर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

29. देवरिया मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

30. प्रतापगढ़ मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

31. मिर्जापुर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

32. एटा मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

33. हरदोई मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

PG -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

34. जौनपुर मेडिकल कॉलेज

स्थापित वर्ष 2021,

यूजी - एमबीबीएस 100

पीजी -

सुपर स्पेशियलिटी (DM/MCH) -

एक नजर देश के आकंड़ों पर -

देशभर में कुल 542 मेडिकल कॉलेज और 313 डेंटल कॉलेज हैं। इनमें कुल 83 हजार 75 एमबीबीएस सीटें हैं।इसके अलावा 26 हजार 949 बीडीएस की सीटें हैं। 52 हजार 720 आयुष की सीटें हैं। हालांकि, इन आकंड़ों में सरकारी के अलावा प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों की संख्या भी जुड़ी है।

खबरें और भी हैं...