UP में 87 लाख लोग दूसरी डोज लेना भूले:अगले 15 दिन अहम, एक्सपर्ट्स बोले- लंबे समय बाद दूसरी डोज लगाना भी नहीं होगा कारगर

लखनऊ8 महीने पहलेलेखक: प्रणव कुमार

कोरोना के प्रति हम कितने लापरवाह हो चुके हैं, इसकी बानगी वैक्सीनेशन के आंकड़े बताते हैं। उत्तर प्रदेश में अब तक 13 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है। लेकिन सच्चाई इससे परे है। 87 लाख लोग सिंगल डोज लगवाने के बाद दूसरी डोज लगवाने से किनारा कर रहे हैं। यह तब है कि जब विशेषज्ञ अगले 2 सप्ताह में बड़े खतरे की संभावना जता रहे हैं। कहा जा रहा है कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन की सिर्फ एक डोज ले चुके लोगों से संक्रमण की चेन बनने की संभावना अधिक है। ऐसे में धनतेरस और दीपावली पर होने वाली भीड़ कोरोना की तीसरी लहर को न्योता दे सकती है।

यूपी में सामने आए चौकाने वाले आंकडे़
यूपी में कुछ चौंकाने वाले आंकडे़ भी सामने आए हैं। यूपी के करीब 87 लाख लोग कोरोना वैक्सीन की एक ही डोज लेकर दूसरी डोज लेना भूल चुके हैं। यानी, जिनकी दूसरी डोज की मियाद भी पूरी हो गई, बावजूद इसके इनके द्वारा दूसरी डोज नहीं लगवाई गई। ऐसे में कोरोना की पहली डोज भी बेअसर समझी जा रही। चिकित्सक इस बात से भी इनकार नहीं कर रहे हैं कि लंबा समय बीतने के बाद दूसरी रोज लगवाना भी बहुत कारगर नहीं रहेगा।

SGPGI के निदेशक बोले- दूसरी डोज न लेना घोर लापरवाही
SGPGI (संजय गांधी स्नातकोत्तर संस्थान) के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमन ने बताया कि वैक्सीन की डोज समय पर न लेना घोर लापरवाही है। कोरोना के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लेना बेहद आवश्यक है, इसलिए दूसरी डोज न लेने वाले संक्रमण से बचने में सक्षम नहीं होंगे। इसके अलावा सिंगल डोज लेने के बाद दूसरी डोज न लेने वाले दूसरों के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं। उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि दूसरी डोज न लेने वालों के लिए फोकस वैक्सीनेशन की जरूरत है और इसको सही तरीके से लागू करना चाहिए।

सिंगल डोज लेने के बाद दूसरी डोज न लेने वाले दूसरों के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।-प्रतीकात्मक फोटो
सिंगल डोज लेने के बाद दूसरी डोज न लेने वाले दूसरों के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।-प्रतीकात्मक फोटो

एक नजर आंकड़ों पर

  • यूपी में अब तक कुल वैक्सीनेशन -13 करोड़ 8 लाख 50 लाख 592
  • पहली डोज - 9 करोड़ 81 लाख 73 हजार 860
  • दूसरी डोज - 3 करोड़ 26 लाख 76 हजार 732

वैक्सीन ओवरड्यू के केस

कोवीशील्ड84 दिन से ज्यादा देरी63 लाख 30 हजार
कोवैक्सिन42 दिन से ज्यादा देरी23 लाख 37 हजार
दूसरी डोज न लेने वालों की कुल संख्या0086 लाख 75 हजार

कहां कितने सेकंड डोज लगाने वाले नहीं पहुंचे वैक्सीनेशन सेंटर डोज

गोंडा2 लाख 81 हजार
मेरठ2 लाख 14 हजार
गोरखपुर2 लाख 13 हजार
गौतमबुद्धनगर2 लाख 14 हजार
बहराइच2 लाख 6 हजार
आगरा2 लाख 42 हजार
लखनऊ1 लाख 63 हजार
कानपुर नगर1 लाख 49 हजार
वाराणसी1 लाख 38 हजार
लखीमपुर खीरी1 लाख 93 हजार
प्रयागराज1 लाख 68 हजार
गाजियाबाद1 लाख 88 हजार

% में वैक्सीनेशन वालों की संख्या

  • पहली डोज लेने वालों की संख्या 67%
  • दूसरी डोज लेने वालों की संख्या महज 20%

किस महीने में कितनी लगी डोज

महीनेवैक्सीनेशन (लाख में)
जनवरी4.5
फरवरी14
मार्च45
अप्रैल70
मई55
जून1.27
जुलाई1.68
अगस्त2.46
सितंबर3.36
अक्टूबर2.2 (28 अक्टूबर तक)