• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Uttarakhand Chief Minister Pushkar Dhami Met CM Yogi, Discussed The Asset Distribution Of UP Uttarakhand, Together They Will Resolve Their Disputes

यूपी-उत्तराखंड में 20 हजार करोड़ का समझौता:205 करोड़ रुपए देगा यूपी, अलकनंदा होटल उत्तराखंड को मिलेगा... प्रॉपर्टी आधी-आधी बंटेगी

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुष्कर सिंह धामी ने योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करके उनको रुद्राक्ष का पौधा उपहार स्वरुप दिया। - Dainik Bhaskar
पुष्कर सिंह धामी ने योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करके उनको रुद्राक्ष का पौधा उपहार स्वरुप दिया।

उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के बीच 20 हजार करोड़ की परिसंपत्ति का विवाद सुलझा लिया गया है। दो दिन के दौरे पर लखनऊ आए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सीएम योगी से मुलाकात के बाद कहा कि 21 साल से लंबित मामलों पर सहमति बन गई है। उत्तरप्रदेश 205 करोड़ रुपए उत्तराखंड को देगा। 5700 हेक्टेयर जमीन और 1700 मकान का बराबर बंटवार होगा। 15 दिनों के भीतर दोनों राज्यों के अफसर इसका सर्वे करके प्रॉपर्टी चिन्हित कर लेंगे। हरिद्वार का अलकनंदा होटल उत्तराखंड को मिलेगा।

ये भी तय हुआ है कि इच्छा बस स्टैंड आज से ही उत्तराखंड की प्रॉपर्टी होगा। बताया गया है कि दोनों राज्यों के अफसरों ने बैठक करके समझौते का फॉर्मूला तय कर लिया था। इसके बाद दोनों राज्यों के सीएम ने इस पर सहमति जताई है।

30 मिनट की बैठक में निकला समझौते का फॉर्मूला
कहा जा रहा है कि सीएम आवास पर हुई बैठक में दोनों प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों ने यूपी और उत्तराखंड के बीच लंबित मामलों को लेकर चर्चा की। अफसरों के दिए फॉर्मूले पर दोनों में बात हुई और फिर 50-50 फॉर्मूले पर सहमति बनी।

हरिद्वार के इस अलकनंदा होटल पर दोनों राज्य अपना-अपना दावा कर रहे थे। अंतत: यह उत्तराखंड के हिस्से में आया है।
हरिद्वार के इस अलकनंदा होटल पर दोनों राज्य अपना-अपना दावा कर रहे थे। अंतत: यह उत्तराखंड के हिस्से में आया है।

राज्यपाल आनंदी बेन से भी धामी ने की है मुलाकात
इससे पहले बुधवार को पुष्कर सिंह धामी ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और उत्तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से भी भेंट की। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से आज राजभवन में शिष्टाचार मुलाकात कर उन्हें भगवान केदारनाथ मंदिर का स्मृति चिन्ह तथा रुद्राक्ष का पौधा उपहार स्वरूप भेंट किया। इस दौरान राज्यपाल ने भी धामी को शॉल और दो पुस्तकें 'लोकहित के मुखर स्वर' तथा 'वो मुझे हमेशा याद रहेंगे' देकर उनका स्वागत किया।