लखनऊ के बड़े इमामबाड़े में डांस पर विवाद:लड़की के डांस का 30 सेकेंड का वीडियो सामने आया, योगी के मंत्री ने कार्रवाई के लिए कहा; धर्मगुरु बोले- टूरिस्टों की एंट्री रोकी जाए

लखनऊ2 महीने पहले
मुस्लिम धर्मगुरुओं ने आपत्ति जताते हुए कहा है कि किसी भी ऐतिहासिक इमारत पर इस तरीके का डांस किया जाना सही नहीं है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ऐतिहासिक बड़े इमामबाड़े परिसर में एक लड़की के डांस का वीडियो सामने आने के बाद विवाद हो रहा है। यह वीडियो करीब 30 सेकेंड का है। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि किसी भी ऐतिहासिक इमारत पर इस तरीके का डांस किया जाना सही नहीं है। शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कार्रवाई की मांग की है।

यूपी सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने लखनऊ डीएम और हुसैनाबाद ट्रस्ट के अध्यक्ष अभिषेक प्रकाश को पत्र लिखकर जांच के लिए कहा है। साथ ही दोषी कर्मचारियों और अफसरों पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उन्होंने लिखा कि ऐसे पवित्र स्थल पर किसी भी तरह का अमर्यादित आचरण और नाच-गाना वर्जित है। इमामबाड़े में तैनात सुरक्षाकर्मियों, गाइड और जिम्मेदार अधिकारियों की नैतिक जिम्मेदारी है। इस पवित्र स्थल की शुचिता बनाए रखें, ताकि भविष्य में ऐसी कोई घटना न हो।

'यह धार्मिक स्थल है, टूरिस्ट प्लेस नहीं'
ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के सेक्रेटरी मौलाना यासूब अब्बास ने बड़े इमामबाड़े में टूरिस्टों पर रोक लगाने की मांग की है। मौलाना यासूब अब्बास का कहना है कि लखनऊ के DM अभिषेक प्रकाश, हुसैनाबाद ट्रस्ट के चेयरमैन भी हैं। उनके होते हुए बड़े इमामबाड़े की पवित्रता को रौंदा जा रहा है। ये एक धार्मिक स्थल है, कोई टूरिस्ट प्लेस नहीं है। बड़े इमामबाड़े में टूरिस्टों के आने पर तुरंत रोक लगाई जाए। लखनऊ लौटने पर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

'ऐसा काम मुल्क की संस्कृति और तहजीब के खिलाफ'
दारुल उलूम फरंगी महली के प्रवक्ता मौलाना सुफियान निजामी ने कहा कि धार्मिक स्थलों का सम्मान करना सबका फर्ज है। हम सब को मिलकर ऐसे वीडियो का विरोध करना चाहिए। इबादतगाह हमारे मुल्क की संस्कृति का प्रतीक होती है। हैरत की बात है, डांस का वीडियो इबादतगाह में बनाया जा रहा है। इस कृत्य से एडमिनिस्ट्रेशन पर भी सवालिया निशान उठता है। ऐसा काम हमारे मुल्क की संस्कृति और तहजीब के खिलाफ है।

शिया समुदाय के लोग करते हैं मजलिस
बताया जाता है कि शिया समुदाय के लोग जहां मजलिस और मातम करते हैं, वहां पर डांस किया जा रहा है। इस मामले को हुसैनाबाद ट्रस्ट के जिम्मेदार पदाधिकारियों की लापरवाही से जोड़कर देखा जा रहा है।

MP में मंदिर में डांस करते हुए वीडियो आया था सामने
इससे पहले 26 सितंबर को मध्य प्रदेश के छतरपुर में मंदिर में डांस करते हुए वीडियो सामने आया था। इस वीडियो में एक लड़की मंदिर के गेट के सामने बॉलीवुड गाने पर डांस करती नजर आ रही थी। कुछ हिंदू संगठनों ने इस वीडियो पर आपत्ति जताई थी।

खबरें और भी हैं...