नौकरी जाने पर की थी साथी प्लंबर की हत्या:लखनऊ में ककौली गांव के पास धोखे से बुलाया, दोस्त के साथ सिर पर पीछे से मारी गोली, साथी समेत गिरफ्तार

लखनऊ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में हत्या के आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में हत्या के आरोपी।

लखनऊ मड़ियांव के ककौली गांव में बुधवार को मिला शव हसनगंज के लाहौरीगंज निवासी प्लंबर (बोरिंग का काम करने वाला) जगदीश वर्मा (35) का था। पत्नी किरन वर्मा के संदेह पर शुक्रवार रात को पुलिस ने हत्या में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें से मुख्य आरोपी के बहनोई की दुकान पर मृतक का काम करता था। उसके कहने पर कामचोरी के चलते आरोपी की नौकरी गई थी। जिसके चलते उसने अपने दोस्त के साथ घटना को अंजाम दिया।

हत्या में चोरी की स्कूटी का किया प्रयोग

मृतक जगदीश वर्मा की फाइल फोटो।
मृतक जगदीश वर्मा की फाइल फोटो।

एसीपी अलीगंज अखिलेश सिंह ने बताया कि बुधवार को ककौली गांव के पास शव मिले शव की शिनाख्त गुरुवार रात किरन ने पति जगदीश वर्मा के रूप में की थी। जगदीश के मोबाइल काल डिटेल के आधार पर सीतापुर रामकोट निवासी मनीष राठौर और सौरभ को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से जगदीश का मोबाइल फोन और स्कूटर बरामद हुई। इन लोगों ने हत्या में चोरी की स्कूटी का इस्तेमाल किया। इनके पास से चोरी की स्कूटी व तमंचा भी बरामद किया गया।

बहनोई के यहां से नौकरी जाने पर दोनों में हुआ था विवाद
मड़ियांव इंस्पेक्टर मनोज सिंह के मुताबिक मनीष राठौर का बहनोई नौबस्ता निवासी अनिल राठौर समरसेबिल बोरिंग का काम करते हैं। जहां मनीष डाला चलाता था। वहीं प्लंबर जगदीश की काम चोरी व रुपयों के हेरफेर के चलते एक बार विवाद हो गया। इसकी जानकारी पर मनोज ने मनीष को नौकरी से निकाल दिया। इसको लेकर अनिल ने सफाई भी दी, लेकिन मनोज ने एक न सुनी। जिसके बाद से ही मनीष ने उसे रास्ते से हटाने की सोच ली थी।

दस अगस्त को ही करनी थी हत्या, न आने पर दोबारा बनाया प्लान
आरोपी मनीष के मुताबिक नौकरी छूटने सीतापुर में ई-रिक्शा चलाने लगा। जगदीश से बदला लेने के लिए दोस्त सौरभ के साथ मिलकर हत्या की योजना बनाई। इसके चलते10 अगस्त को जगदीश को एक नई साइट दिखाने के लिए बुलाया, लेकिन जगदीश नहीं आया। इस दौरान घैला पुल के पास खड़ी स्कूटर चोरी कर ली और सीतापुर लेकर चला गया। उसके बाद 18 अगस्त को दोबारा जगदीश को नई साइट पर बोरिंग का काम करने का लालच देकर बुलाया। जगदीश के स्कूटी से ककौली गांव पहुंचने पर मनीष साइट दिखाने की बात कह जगदीश की स्कूटी पर बैठ गया। सुनसान रास्ता आते ही सिर पर पीछे से गोली मार दी। दूसरी तरफ जांच में सामने आया कि घटना में शामिल चोरी की स्कूटी मामा चौराहा निवासी रियाज खान की थी।

खबरें और भी हैं...