UP के 14 जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट:मौसम वैज्ञानिक ने कहा- एक बार फिर करवट लेगा मानसून, 24 घंटे में 100 मिमी से ज्यादा 10 जिलों में बादल बरसे

लखनऊएक वर्ष पहले

उत्तर प्रदेश में मानसून लौटने को है। लेकिन इससे पहले कई जिलों में आफत बरपा दी है। शुक्रवार को 24 घंटे के भीतर प्रदेश के 10 जिलों में 100 मिमी से भी ज्यादा बारिश हुई। सबसे ज्यादा बारिश 215 मिमी का रिकॉर्ड आजमगढ़ में बना है। कुल मिलाकर यूपी में 40.3 मिमी औसत वर्षा हुई। जबकि अनुमान महज 5.5 मिमी बारिश का था।

मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर मध्यप्रदेश पर बना कम दबाव का क्षेत्र पश्चिमी-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। इससे वातावरण में नमी आ रही है। एक बार फिर मानसून करवट ले सकता है। आज मौसम विभाग ने पूर्वांचल में बलिया, मऊ, देवरिया समेत 14 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मौसम आंचलिक विज्ञान केंद्र लखनऊ के डायरेक्टर डॉक्टर जेपी गुप्ता ने बताया कि प्रदेश में एक जून से अब तक 704 मिमी औसत वर्षा हुई, जो सामान्य वर्षा 745.2 मिमी के सापेक्ष 94 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है। फिर कम दबाव बनने के कारण प्रदेश में एक बार और मौसम करवट ले सकता है।

लखनऊ में आज भी आसमान में बादल छाए हुए हैं।
लखनऊ में आज भी आसमान में बादल छाए हुए हैं।

दो दिन में बारिश में हुए हादसों में 80 लोगों की मौत
शुक्रवार को तूफानी हवाओं के साथ तेज बारिश से घर की दीवार गिरने और अन्य कारणों से हुए हादसों में प्रदेश में करीब 30 लोगों की मौत हुई है। अवध क्षेत्र में सबसे ज्यादा 13 की जान चली गई है, जबकि ब्रज, पूर्वांचल, चित्रकूट, उन्नाव, कन्नौज, गोरखपुर, प्रतापगढ़ और कौशांबी में 17 की मौत हुई। इससे पहले गुरुवार को लगभग 50 लोगों की मौत हुई थी। अब तक बारिश से जुड़े हादसों में 80 लोग दम तोड़ चुके हैं।

एक दशक में पहली बार दो दिन लखनऊ में शतकीय बरसात
लखनऊ शहर में पिछले दो दिनों में भारी बारिश हुई है। गुरुवार को 107 मिमी और पिछले 24 घंटों में 128 मिमी बारिश हुई है। सितंबर के महीने में 24 घंटे के समय में 100 मिमी बारिश पिछले दस वर्षों में केवल एक बार हुई है, जो 14 सितंबर 2012 को हुई थी।

इतना ही नहीं, लखनऊ ने एक दशक में सबसे अधिक मासिक वर्षा के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ दिया है, जिसमें कुछ दिन शेष भी हैं। पिछला रिकॉर्ड 286 मिमी था और इस बार मासिक औसत 205 मिमी के मुकाबले 297 मिमी बारिश हो चुकी है।

आजमगढ़ में पानी में डूबा बिजली उपकेंद्र।
आजमगढ़ में पानी में डूबा बिजली उपकेंद्र।

आज 14 जिलों में बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि आज 50 किलो प्रतिघंटे की रफतार से हवाएं चलेंगी। बिजली की गरज-चमक के साथ यूपी के पूर्वांचल क्षेत्र के बलिया, देवरिया, मऊ, गाजीपुर, आजमगढ़, गोरखपुर, कुशीनगर, महाराजगंज, संत कबीर नगर, आंबेडकरनगर, बस्ती, सिद्धार्थनगर, बलराम जिलें में बारिश की संभावना है।

वाराणसी में आज ठंडक का अहसास हुई।
वाराणसी में आज ठंडक का अहसास हुई।

वाराणसी में आज हल्की बारिश का अनुमान
दो दिनों तक हुई बारिश के बाद वाराणसी में आज तड़के सुबह में लोग ठिठुरते-कांपते दिखे। मौसम में अभी भी नमी बनी हुई है। घने बादल के बाद कुछ देर के लिए धूप भी दिखाई दी। धूप निकलने से लोगों ने गर्माहट का एहसास किया। इस दौरान वाराणसी का औसत तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। जबकि न्यूनतम तापमान 23 डिग्री और अधिकतम 30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों ने आज लोकल इफेक्ट की वजह से हल्की बारिश का अनुमान जताया है।

मेरठ व आसपास के जिलों में कहीं बादल छाए कहीं धूप
वेस्ट यूपी में मेरठ और आसपास के जिलों में शनिवार को धूप खिली हुई है। इससे पहले शुक्रवार रात आसमान में बादल छाए रहे। एनसीआर में मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलंदशहर, बागपत, मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर व आसपास के जिलों में मौसम साफ है। कहीं कहीं आसमान में बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटों में मेरठ और आसपास के जिलों में बारिश की संभावना है। बिजनौर बैराज और मेरठ के हस्तिनापुर में गंगा का जलस्तर सामान्य चल रहा है।

खबरें और भी हैं...