UP में बादलों का डेरा, उमस बढ़ी:लखनऊ में हुई बारिश, चिपिचिपी गर्मी से अभी नहीं मिलेगी राहत;मौसम विभाग ने 17 जिलों में जारी किया येलो अलर्ट

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आज लखनऊ में बारिश हुई है। - Dainik Bhaskar
आज लखनऊ में बारिश हुई है।

राजधानी लखनऊ में बुधवार को बारिश हुई। तीन दिन से हो रही चिपिचिपी गर्मी से लोगों को फिलहाल मौसम विभाग ने लगभग एक सप्ताह तक उमस वाली गर्मी जारी रहने की संभावना जताई है। धूप-छांव के खेल से आर्द्रता बढ़ रही है।

नमी बढ़ने से सुबह में राजधानी समेत प्रदेश के लोग चिपचिपी गर्मी से पूरे दिन परेशान रहे। धूप का असर तापमान पर भी दिखाई दिया। मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार को भी आसमान पर बादलों का साया बना रहेगा। बादलों के साथ धूप निकलने से कुछ दिनों तक उमस भरी गर्मी परेशान करेगी।

राजधानी लखनऊ में बारिश के दौरान सड़कों पर भीड़ कम देखने को मिली।
राजधानी लखनऊ में बारिश के दौरान सड़कों पर भीड़ कम देखने को मिली।

बादलों की लुकाछिपी आज भी जारी रहेगी ​​​
मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के अनुसार मंगलवार को तापमान सोमवार से लगभग डे़ढ़ डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। मंगलवार की सुबह बादल तो छाए रहे लेकिन बरसात नहीं हुई। आठ बजे के बाद से धूप तेज होने लगी। शाम तक बादलों और सूरज के बीचे धूप-छांव का खेल चलता रहा। धूप निकलने से उमस बढ़ गई। इससे तापमान भी बढ़ गया। लखनऊ का अधिकतम तापमान 35.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया रहा। यह सामान्य से एक डिग्री कम था। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को भी बादलों की लुकाछुपी जारी रहेगी।

पार्कों में सेल्फी लेते लोग।
पार्कों में सेल्फी लेते लोग।

बीते 24 घंटे में इन जिलों में हुई बरसात
बीते 24 घंटे में उत्तर प्रदेश के रायबरेली 12 मिलीमीटर , सोनभद्र 14 मिलीमीटर, वाराणसी 14 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई।वाराणसी में लगातार बारिश होने से सड़कें और गलियों में पानी भरा हुआ है। बारिश होने से इन जिलों में मौसम सुहावना बना हुआ है।

पूर्वांचल के 17 जिले में येलो अलर्ट ​​​​​
मऊ, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर, मिर्जापुर संत रविदास नगर जौनपुर लखीमपुर खीरी शाहजहांपुर बरेली बदायूं सुल्तानपुर, बस्ती, इटावा औरैया में येलो अलर्ट ​​​​​जारी किया गया हैं। 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बारिश होने की संभावना और बिजली पानी गिरने की आशंका हैं।

अवध के 28 जिले में भी ऑरेंज अलर्ट ​​​​​
अवध के 28 जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। जिसमें प्रतापगढ़, अमेठी, अयोध्या, रायबरेली, गोंडा, बस्ती, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, सीतापुर, बाराबंकी हरदोई, फर्रुखाबाद, कन्नौज, मैनपुरी, जालौन, कानपुर नगर, कानपुर देहात लखनऊ, उन्नाव, फतेहपुर, हमीरपुर, बांदा महोबा, चित्रकूट, कौशांबी, प्रयागराज जिले शामिल हैं। यहां पर 87 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। इसके अलावा बिजली और पानी गिरने की संभावना जताई गई है।

क्या होते हैं ग्रीन, रेड, येलो और ऑरेंज अलर्ट
ग्रीन अलर्ट: कोई खतरा नहीं है। येलो अलर्ट : आने वाले खतरे के प्रति सचेत करता है, येलो अलर्ट को मौसम विज्ञान विभाग जैसे-जैसे मौसम खराब होता है, ऑरेंज अलर्ट में परिवर्तित कर देता है।

ऑरेंज अलर्ट: बारिश व आंधी की पूरी संभावनाएं होती हैं। इस अलर्ट के बाद लोगों को सावधान होना चाहिए और इधर-उधर जाने पर सावधानी बरतनी चाहिए।

रेड अलर्ट: इसका मतलब है कि स्थिति अत्यंत खतरनाक है। मौसम विभाग के अनुसार ऐसे मौसम में इधर-उधर नहीं निकलना चाहिए। इस अलर्ट का मतलब है कि मौसम खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है, भारी बारिश होने की अधिक संभावना होती है।

खबरें और भी हैं...