UP में ढाई माह में 56 फीसदी कम हुई बारिश:मानसून सीजन का अभी एक माह बाकी, लखनऊ समेत 12 जिलों में बरसात का अलर्ट; कई जिलों में सूखे के हालात

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ में रविवार सुबह से धूप के लुकाछूपी का खेल जारी है। - Dainik Bhaskar
लखनऊ में रविवार सुबह से धूप के लुकाछूपी का खेल जारी है।

उत्तर प्रदेश में मौसम विभाग अच्छी बरसात का अनुमान राजधानी लखनऊ सहित मंडल के ज्यादातर जिलों में सच नहीं हो पाया है। मानसून के धोखा देने से राजधानी लखनऊ, सीतापुर और हरदोई समेत मंडल के ज्यादातर जिलों में सूखे जैसे हालात बन गए हैं। बरसात के सीजन के ढाई माह बाद 14 से 56 प्रतिशत तक बरसात कम हुई है। एक जून से 30 अगस्त तक अब यूपी में 598.4 मिमी बारिश हुई है।

मानसून सीजन 30 सितंबर तक, 12 जिलों में बारिश का अलर्ट
आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता बताते हैं कि मानसून सीजन 30 सितंबर तक रहेगा। अभी बरसात का एक माह बाकी है। इस बीच कुछ अच्छी बरसात हो सकती है। प्रदेश के अयोध्या, अंबेडकरनगर, बस्ती, सुल्तानपुर, सीतापुर, बहराइच, महाराजगंज, गोरखपुर, अमेठी, गोंडा, बाराबंकी और लखनऊ में मामूली बारिश होने की संभावना है।

जुलाई और अगस्त माह बरसात सबसे ज्यादा
मौसम विभाग की ओर से लखनऊ के साथ ही प्रदेश में इस साल अच्छी बारिश की भविष्यवाणी की गई थी, मगर लखनऊ मंडल के जनपदों में अभी तक तो मानसून ने दगा ही दिया है। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार, लखनऊ के साथ ही सीतापुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली में अबतक औसत से काफी कम बरसात हुई है। एक जून से 30 सितंबर तक मानसून सीजन रहता है, मगर सबसे ज्यादा बरसात जुलाई और अगस्त माह में ही होती है।

कोरोना और लॉकडाउन के बाद कम बारिश ने किसानों के अरमानों पर फेरा पानी
मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, 30 अगस्त तक लखनऊ में 15 प्रतिशत, सीतापुर में 14 प्रतिशत, हरदोई में 56 प्रतिशत, उन्नाव में 43 प्रतिशत तथा रायबरेली में 37 प्रतिशत सामान्य से कम बरसात हुई है। बाराबंकी और लखीमपुर खीरी में जरूर सामान्य से अधिक बरसात हुई है। कोरोना और लॉकडाउन के चलते लगभग सभी क्षेत्रों की हालत खराब है। अच्छी बरसात की संभावना से उम्मीद की गई थी कि कृषि क्षेत्र इससे प्रभावित नहीं होगा। लेकिन कम बारिश ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया है। कम बरसात के कारण उन किसानों की परेशानी बढ़ गयी है जिनके पास सिंचाई के साधन नहीं है।

एक जून से 30 अगस्त तक हुई यहां इतनी बारिश

जिलाबारिश (मिमी)अनुमानइतना गिरा पानी (प्रतिशत में)
लखनऊ460.3529.815% कम
सीतापुर550.5643.214% कम
हरदोई240.7550.456% कम
उन्नाव315.3556.743% कम
रायबरेली275.7442.837% कम
लखीमपुर1154746.455% अधिक
बाराबंकी799.3650.323% अधिक
खबरें और भी हैं...