पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लखनऊ में बिजली कटौती ने अधिकारियों की परेशानी बढ़ाई:बिजली कटौती की हर रोज आ रही 5000 से ज्यादा शिकायतें, दबाव बढ़ने पर सक्रिय हुए अधिकारी, उपकेंद्रों का किया दौरा

लखनऊ5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिदिन पांच हजार शिकातें आने के बाद सक्रिय हुए अधिकारी। - Dainik Bhaskar
प्रतिदिन पांच हजार शिकातें आने के बाद सक्रिय हुए अधिकारी।

बिजली के बढ़े संकट से अधिकरियों के पसीने छूटने लगे हैं। गुरुवार रात से लेकर शुक्रवार सुबह तक शहर में करीब 50 से ज्यादा इलाकों में बिजली कटने और लो वोल्टेज की समस्या रही। इसमें गोलागंज से लेकर कानपुर रोड सेक्टर एच तक के इलाके शामिल है। इसके अलावा गोमती नगर स्थित पूर्वांचल अर्पाटमेंट में लोग लो वोल्टेज से परेशान रहे।

यह सब देखने के बाद अब मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के अधिकारी लखनऊ के बिजली घरों का दौरान करने पहुंच गए। इंदिरा नगर उपकेंद्र से जुड़े उपकेद्रों का उन्होंन दौरा किया। हालांकि उसके बाद भी शहर में बिजली संकट लगातार बना हुआ है। अधिकारी अब अपने एसी केबिन से बाहर निकलने लगे हैं।

कानपुर रोड एलडी कॉलोनी और गोलागंज में बढ़ी परेशान
कानपुर रोड सेक्टर एच और गोलागंज के जुड़े कई इलाकों में बिजली संकट बना हुआ है। कानपुर रोड निवासी सेक्टर एच निवासी डीएन सिंह ने बताया कि उनके यहां दोपहर 12 से 2 बजे तक बिजली कटी हुई थी। इस दौरान कॉपपोरेशन के 1912 नंबर पर संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन 30 मिनट तक फोन ही नहीं लगा। बताया कि नंबर लगातार बिजी बताते रहा।

वहीं, गोलागंज निवासी फकरुल हसन चांद ने बताया कि शाम 7 बजे के बाद लेसा की अंधेरगर्दी शुरू हो जाती है। सुबह 6 बजे तक करीब 8 से 10 बजे तक बिजली कट कटती है।

प्रतिदिन 5000 से ज्यादा शिकायत
कटौती का आलम यह है कि मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के कस्टमर केयर पर प्रतिदिन 5000 से ज्यादा शिकायतें आ रही है। सूत्रों का कहना है कि उसमें से 3 हजार शिकायतें कर्मचारी उठा पाते हैं, बाकी फोन बिजी रहने की वजह से खुद ही कट जाता है।

लखनऊ से ही प्रतिदिन 500 से ज्यादा फोन कस्टमर केयर में जाता है। उसके अलावा 127 उपकेंद्रों पर भी लोग फोन करते हैं। हालांकि इन जगहों से भी पर्याप्त सूचना नहीं मिलती है। ऐसे में आए दिन उपकेंद्रों पर हंगामा होता है।

खबरें और भी हैं...