• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • With The Reduction Of Sir Charge, If There Is A Ban On The Purchase Of Expensive Electricity, Then The Matter Will Be Made, The UP State Electricity Consumer Council Gave

300 यूनिट नहीं लेकिन किसानों को मिल सकती फ्री बिजली:सर चार्ज घटाने के साथ महंगी बिजली खरीद पर रोक लगी तो बनेगी बात, उप्र राज्य विद्यु उपभोक्ता परिषद ने दी सलाह

लखनऊ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उप्र में सिंचाई के लिए मिल सकती फ्री बिजली। - Dainik Bhaskar
उप्र में सिंचाई के लिए मिल सकती फ्री बिजली।

घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट की बिजली फ्री मिलना भले मुश्किल है लेकिन किसानों को सिंचाई के लिए फ्री की बिजली मिल सकती है। उप्र राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने इसके लेकर आंकड़े दिए है। उन्होंने बताया कि लेट पेमेंट सर चार्ज 18 प्रतिशत को घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है तो साल का 800 रुपए बचाया जा सकता है। इसके अलावा अपने बिजली उत्पादन गृहों को पूरी क्षमता पर चलाकर करीब 1000 करोड़ रुपए बचाया जा सकता है। इससे यह फायदा होगा कि महंगी बिजली नहीं खरीदनी पड़ेगी। ऐसे में करीब 1800 करोड़ रुपए बच जाएंगे।

दरअसल, उप्र में किसानो को फ्री बिजली देने के लिए 13000 करोड़ रुपए चाहिए। इसमें सरकार पहले ही करीब 11 हजार रुपए की सब्सिडी देती है। उसके बाद विभाग अपना सिस्टम ठीक करता है तो वह आसानी ने 1800 से 2000 रुपए बचा सकता है। ऐसे में आसानी से 13 हजार करोड़ रुपए एकत्र किए जा सकते हैं।

सरकारो में ईच्छा शक्ति का अभाव है

सरकारों में ईच्छा शक्ति का अभाव है। उन्हें बहुत ही आसानी से फ्री बिजली दी जा सकती है देश के अनेकों राज्य जैसे आंध्र प्रदेश कर्नाटक पंजाब तमिलनाडु तेलंगाना में किसानों की बिजली पूरी तरह फ्री है। ऐसे में उपभोक्ता परिषद ने जब उत्तर प्रदेश के किसानों के वित्तीय पैरामीटर का अध्ययन किया तो यह सामने निकल कर आया उत्तर प्रदेश मे भी कृषि कार्य के लिए ट्यूबवेल यानी कि किसानों की बिजली बहुत ही आसानी से फ्री की जा सकती है।

31 मार्च 2019 के आंकड़ों के

राज्यरेटउपभोक्ता की संख्या
आंध्र प्रदेशशून्य1740418
कर्नाटकशून्य2969013
पंजाबशून्य1378960
तमिलनाडुशून्य2117440
तेलंगानाशून्य2305318