UP में 50 लाख बच्चों को मिलेगी दवा किट:लखनऊ में CM योगी ने पहली खेप में 17 लाख किट को रवाना किया; बोले- हम कोरोना की तीसरी लहर से लड़ाई की ओर बढ़ रहे

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री योगी ने अपने आवास से दवा किट की पहली खेप को हरी झंडी दिखाई। दूसरी खेप भी जल्द रवाना की जाएगी। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री योगी ने अपने आवास से दवा किट की पहली खेप को हरी झंडी दिखाई। दूसरी खेप भी जल्द रवाना की जाएगी।

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बच्चों और किशोरों को बचाने के लिए प्रदेश में 50 लाख किट बांटी जाएंगी। मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास से हरी झंडी दिखाकर 17 लाख किट को जिलों के लिए रवाना किया। बाकी 33 लाख दवा किट जल्द भेजी जाएंगी। इस दौरान योगी ने कहा कि हम तीसरी लहर से लड़ाई की तैयारी की तरफ कदम बढ़ा रहे हैं। आज 19 जनपद ऐसे हैं, जहां एक भी केस नहीं आया है।

योगी ने कहा कि प्रदेश को लेकर जो आशंका जताई जा रही है, उनको हमने गलत साबित कर दिया। कोरोना में कई लोगों ने अपने प्रियजनों को खो दिया है। मैं उनके प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

आज प्रदेश में सिर्फ 340 केस आए

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आशंका व्यक्त की जा रही थी कि उत्तर प्रदेश में रोज 1 लाख केस आएंगे। आज प्रदेश में सिर्फ 340 केस आए हैं। प्रदेश ने यह सिद्ध कर दिया है कि विभाग जिम्मेदारी के साथ काम करेंगे, तो सब नियंत्रित होगा।

योगी ने कहा कि भारत जैसे देश में पहले किसी बीमारी के लिए वैक्सीन का कोई सोच भी नहीं सकता था। पहले सिर्फ लक्षण के आधार पर ही इलाज होता था। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में ने पहली बार ऐसा हुआ है कि भारत में 2 वैक्सीन बनाई है। 4 चरणों के चौथी स्टेज है, दवाई की किट जिसकी आज शुरुआत की जा रही है। लोग बोलते थे कि प्रदेश के गांवों में बड़े स्तर पर संक्रमण है, पर गांवों में भी हमने बड़े स्तर पर काम किया। इसी का असर है कि हमारे गांव और शहर सभी सुरक्षित हैं।

दवा किट वितरण के लिए बनाए 4 वर्ग

  • नवजात शिशु से एक वर्ष तक।
  • दो वर्ष से चार वर्ष तक।
  • पांच से 12 वर्ष तक।
  • 13 वर्ष से 18 वर्ष तक।

अभी तक चार चरणों में युवाओं और बुजुर्ग लोगों को दवा की करीब 68 लाख किट बांटी जा चुकी हैं। अब फिर से 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए 71 लाख किट जल्द तैयार कर जिलों में भेजी जाएंगी।

किट में कौन-कौन सी दवाएं हैं?

किट में पैरासिटामाल, जिंक, विटामिन सी, विटामिन डी की गोलियों के साथ ओआरएस का घोल शामिल है। बरसात के मौसम में वायरल फीवर, उल्टी व दस्त भी हो सकता है, ऐसे में निगरानी कमेटियों द्वारा लक्षण के आधार पर यह किट बांटी जाएगी।

खबरें और भी हैं...