यूपी में कोरोना से जंग / अब अपनी निधि से 25 लाख से ज्यादा दे सकेंगे विधायक; योगी सरकार ने नियमावली में किया बदलाव

प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा- 25 लाख रुपए से अधिक धनराशि चिकित्सा सुविधा की मद में दे सकेंगे विधायक
  • निधि से मास्क, सैनिटाइजर खरीदे व बांटे जा सकेंगे, चिकित्सकीय उपकरणों की होगी खरीद

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 05:25 PM IST

लखनऊ. कोरोनावायरस को उत्तर प्रदेश में आपदा घोषित किया जा चुका है। इस महामारी से निपटने के लिए कई सांसद व विधायकों ने अपनी निधि देने का ऐलान किया। लेकिन, नियम कानून आड़े आ रहे थे। ऐसे में योगी सरकार ने विधायक निधि के इस्तेमाल के लिए निधि आवंटन नियमावली में संशोधन किया गया है। अब विधायक निधि से मास्क, सैनिटाइजर खरीदे व बांटे जा सकेंगे। अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया- अब विधायक व्यक्तिगत इलाज के लिए प्रति व्यक्ति पांच लाख रुपए और 25 लाख रुपए से अधिक धनराशि चिकित्सा सुविधा की मद में दे सकेंगे।

अभी तक थी ये व्यवस्था
विधायक निधि से अभी तक इलाज के लिए किसी एक व्यक्ति को अधिकतम 5 लाख रुपए दिए जा सकते हैं। साथ ही सरकारी अस्पतालों में कक्ष निर्माण व उपकरण आदि की खरीद के लिए 25 लाख रुपए दिए जा सकते हैं। यह धनराशि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बनी कमेटी व राज्यस्तरीय समिति से स्वीकृति मिलने के बाद जारी होती है। विधायक निधि से व्यक्तिगत इलाज के लिए निधि देने की व्यवस्था सपा शासन में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुरू की थी।


प्रमुख सचिव उत्तर प्रदेश शासन मनोज कुमार ने सभी डीएम को पत्र जारी करते हुए लिखा है- विधायक निधि की राशि कोरोनोवायरस के बचाव में मास्क, सैनिटाइजर समेत अन्य सभी तरह के बचाव में प्रयोग किया जाएगा।

इन मदों पर खर्च होगी विधायक निधि 

  • दूर से किसी व्यक्ति के तापमान को रिकॉर्ड एवं ट्रैक करने के लिए चिकित्सा कर्मी की सुविधा हेतु इन्फ्रारेड थर्मामीटर्स।
  • चिकित्सा कर्मियों को सुरक्षित एवं न्यूनतम हस्तांतरण के रिस्क सहित कार्य करने की क्षमता के लिए पर्सनल प्रोटेक्शन उपकरण। 
  • रेलवे स्टेशनों, एयरपोर्ट एवं अन्य ऐसे प्रवेश स्थलों पर सुरक्षित दूरी से तापमान परीक्षण हेतु थर्मल एमेंजिंग स्कैनर्स अथवा कैमरा। 
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय/ भारतीय चिकित्सा एवं अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) द्वारा स्वीकृत कोरोना परीक्षण किट। 
  • स्वीकृत सुविधाओं के अंतर्गत आईसीयू वेटिंलेटर व आइसोलेशन/ क्वारेंटाइन वार्ड।
  • चिकित्सा कर्मियों हेतु फेस मास्क, गलब्ज, सैनिटाइजर। 
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा कोविड-19 हेतु अनुमन्य अन्य चिकित्सा उपकरण।

अखिलेश, श्रीकांत व जया बच्चन ने एक करोड़ दिया
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा व सांसद जया बच्चन ने अपनी निधि से एक-एक करोड़ रुपए देने की घोषणा की है। इनके अलावा अंबेडकरनगर के बसपा सांसद रितेश पांडेय ने अपनी लोकसभा क्षेत्र के लोगों से बचाव व रोकथाम पर खर्च के लिए 50 लाख रुपए सांसद निधि से दिया है। मिर्जापुर की सांसद अनुप्रिया पटेल ने अपनी सांसद निधि से 25 लाख रुपए दिए हैं। कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने अपने क्षेत्र की जनता के लिए 10 लाख रुपए अपनी विधायक निधि से दिए तो पूर्व मंत्री विनोद सिंह ने कमला नेहरू मेमोरियल ट्रस्ट के द्वारा संचालित महाविद्यालय के छात्रावास को आइसोलेशन सेंटर बनवाने के लिए सुल्तानपुर के डीएम को लेटर लिखा है। लखनऊ उत्तर से विधायक नीरज बोरा ने अपनी एक महीने का वेतन देने की मांग की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना