महराजगंज पहुंचे सीएम योगी, बाढ़ का किया हवाई सर्वे:बोले- बाढ़ पीड़ितों को कोई परेशानी हुई तो अधिकारियों की खैर नहीं है; जिले में 112 गांव की 20 हजार आबादी प्रभावित

महराजगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को महराजगंज के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा किया। - Dainik Bhaskar
सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को महराजगंज के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा किया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को महराजगंज के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा किया। बाढ़ प्रभावित जिलों के हवाई सर्वेक्षण के साथ ही वे बाढ़ राहत केंद्रों का निरीक्षण भी किया। पीड़ितों को राहत सामग्री का भी वितरण किया। यही नहीं बाढ़ पीड़ितों की परेशानी को देखते हुए सख्त तेवर दिखाते हुए सीएम ने कहा कि यदि बाढ़ पीड़ितों को कोई परेशानी हुई तो अधिकारियों की खैर नहीं है। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में 5 से 12 सितंबर तक एक विशेष अभियान चलाकर स्वच्छता, सेनेटाइजेशन और फागिंग कराया जाएगा।

अधिकारीयों को दिए निर्देश

सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ के हालात पर चिंता जताई है। इसके साथ ही उन्होंने राहत और बचाव कार्यों में तेजी लाने के लिये अफसरों को भी कड़े निर्देश दिये हैं। बाढ़ के खतरे के बीच उन्होंने लोगों को सतर्क रहने का सुझाव दिया है। योगी आदित्यानाथ आज दूसरे दिन भी उत्तर प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा कर रहे है। सीएम योगी ने सभी बाढ़ प्रभावितों के प्रति सहानुभूति जतायी और हर तरह की मदद का आश्वासन दिया।

सीएम योगी ने कहा कि प्रत्येक नागरिक का जीवन हमारे लिये बेहद अमूल्य है। उसे बचाने के लिये राहत और बचाव कार्यों को तेजी से चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जितने भी बाढ़ प्रभावित यहां आये हैं, सभी को सुरक्षित पहुंचाना प्रशासन की ड्यूटी है। सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिनके घरों में पानी घुस गया है, उनको सुरक्षित स्थानों और शरणालयों में भेजा जाये। जिनके घर-मकान क्षतिग्रस्त हो गये हैं, उन्हें तत्काल मुआवजा आंवटित किया जाये।

सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिनके घरों में पानी घुस गया है, उनको सुरक्षित स्थानों और शरणालयों में भेजा जाये। जिनके घर-मकान क्षतिग्रस्त हो गये हैं, उन्हें तत्काल मुआवजा आंवटित किया जाये।
सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिनके घरों में पानी घुस गया है, उनको सुरक्षित स्थानों और शरणालयों में भेजा जाये। जिनके घर-मकान क्षतिग्रस्त हो गये हैं, उन्हें तत्काल मुआवजा आंवटित किया जाये।

बाढ़ से बीमारियों को रोकने के लिए चलेगा विशेष अभियान

उन्होंने कहा कि बाढ़ के खतरे के बीच अब कई जल जनित बीमारियों के उपजने की संभावना है। सीएम ने कहा कि सरकार 5 सिंतबर से 12 सिंतबर तक एक स्वच्छता, सैनेटाइजेश और फॉगिंग का एक विशेष अभियान शुरू करने जा रही है। इश अभियान से कई विभागों का जोड़ा जा रहा है। सरकार इस अभियान से स्वच्छ पेयजल समेत कई जरूरी चीजों की आपूर्ति सुनिश्चित करेगी, ताकि डेंगू, मलेरिया समेत तमाम संक्रामक रोगों से बचा जा सके। सीएम योगी ने सभी से इस अभियान में सहभागी बनने की अपील की है।

जिले के 112 गांव अभी भी बाढ़ की चपेट में हैं।
जिले के 112 गांव अभी भी बाढ़ की चपेट में हैं।

जिले में 112 गांव की 20 हजार आबादी प्रभावित

महराजगंज में बाढ़ से भीषण तबाही मची है। जिले के 112 गांव अभी भी बाढ़ की चपेट में हैं। यहां बाढ़ से करीब 20 हजार आबादी प्रभावित है। बाढ़ की वजह से हजारों एकड़ फसल बर्बाद हो गई। नेपाल के पहाड़ी इलाकों से आये बाढ़ के पानी ने पूरे पूर्वांचल में तबाही मचा रखी है। अभी भी सैकड़ों घर पानी से घिरे हुए हैं। घरों में पानी घुसने की वजह से पशुओं को रखने के लिए काफी समस्या हो रही है। लोग अपनी छतों पर और ऊंचे स्थानों पर रहने के लिए मजबूर है। अभी भी जिले हजारों बाढ़ पीड़ित ऐसे हैं जिनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

अभी भी जिले हजारों बाढ़ पीड़ित ऐसे हैं जिनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।
अभी भी जिले हजारों बाढ़ पीड़ित ऐसे हैं जिनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।
खबरें और भी हैं...