वारदात:जमीन बचाने के लिए नोटिस भेजा, तो पट्‌टीदारों ने गोली मारकर हत्या कर दी

महराजगंज/तरवारा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रात में सड़क जाम किए गांव के लोग और परिजन। - Dainik Bhaskar
रात में सड़क जाम किए गांव के लोग और परिजन।
  • महाराजगंज में जमीन विवाद में हुई घटना, पट्टीदारों के साथ 15 साल से चल रहा था विवाद
  • पत्नी ने 6 लोगों के खिलाफ दर्ज करायी एफआईआर, महिला के बयान के आधार पर जांच में जुटी पुलिस

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के गांव महराजगंज थाने के बालिया निवासी बालेश्वर प्रसाद के पुत्र राजाराम प्रसाद की हत्या के मामले में मृतक की पत्नी 40 वर्षीय पूनम देवी ने नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। हत्या के कारणों के बारे में पुलिस को उसने बताया है कि 15 साल से उसके पट्टीदार से जमीन का विवाद चल रहा था। जिन लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है उनमें बलिया गांव के निवासी श्रवण प्रसाद, राजकिशोर प्रसाद, सुरेंद्र प्रसाद, जवाहर प्रसाद, वीरेंद्र प्रसाद और संतोष प्रसाद का नाम शामिल है। पत्नी ने बताया कि जमीन का यह मामला कोर्ट में भी चल रहा है। पत्नी ने पुलिस को बताया कि 2 मई को को सिविल कोर्ट से पट्‌टीदारों को नोटिस आया था। इसके बाद से ही मेरे पट्‌टीदार उग्र हो गए थे और लगातार गाली गलौच तथा पति को जान से मार देने की धमकी दे रहे थे। घटना के दिन रोज की तरह पति बाजार गए थे और शाम को लौट रहे थे, इस दौरान सूचना मिली कि उन्हें तीन मुहानी पर कुछ लोगों ने गोली मार दी है। पत्नी ने कहा है कि पट्‌टीदारों ने ही पति की हत्या की है।

शुक्रवार की देर रात अपराधियों ने ली थी जान
मालूम हो कि महाराजगंज थाने के बालिया के तिनमुहानी पर अपराधियों ने बाजार से घर जा रहे 45 वर्षीय युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। अपराधियों ने उसे दो गोली मारी थी। वह प्राइवेट शिक्षक था जो कोचिंग में बच्चों को पढ़ाता था। चाय की दुकान भी कर्णपुरा बाजार में चलाता था बताते हैं कि जिस वक्त वक्त कर्णपुरा बाजार में अपनी चाय की दुकान को बंद करके अपने एक साथी के साथ बाइक पर सवार होकर घर जा रहा था उसी दौरान उसके पट्‌टीदारों ने कनपटी और सीने में गोली मार दी। वे लोग भी बाइक पर ही थे। मृतक की पहचान महराजगंज थाना क्षेत्र के बलिया गांव निवासी बालेश्वर प्रसाद के पुत्र राजाराम कुशवाहा के रूप में की गई है।

रात में ही सड़क पर आगजनी व प्रदर्शन
घटना की सूचना मिलते ही परिजनों ने सीवान-पटना मुख्य सड़क पर आगजनी शुरू कर दी। सड़क पर शव रखकर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन और नारेबाजी शुरू कर दी। परिजनों का कहना था कि महाराजगंज में पुलिस का अपराधियों से तालमेल है, किसी भी मामले में पुलिस अपराधियों को गिरफ्तार नहीं करती है बल्कि उन्हें खुली छूट दे देती है। परिवार के लोग हत्या को अंजाम देने वाले अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए थे और पुलिस की कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे।

ग्रामीणों ने बीडीओ की गाड़ी में तोड़-फोड़ की
महाराजगंज| महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलिया रोड स्थित कर्णपुरा बाजार पर शुक्रवार की रात 8 बजे अपराधियों द्वारा प्राइवेट शिक्षक की गोली मारकर हत्या करने के बाद उत्पन्न हुए विवाद और सड़क पर हो रही आगजनी के मामले को शांत कराने के लिए जब महाराजगंज प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ रवि रंजन पहुंचे तो आक्रोशित उन्हें उनके सरकारी गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया और जमकर तोड़फोड़ की। घटना की जानकारी के बाद महाराजगंज एसडीपीओ पोलस्त कुमार,एसडीओ संजय कुमार,महाराजगंज थानाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह,जीबी नगर तरवारा थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार,बसंतपुर थानाध्यक्ष मुकेश कुमार,गोरेयाकोठी थाने के एएसआई प्रमोद कुमार पटेल,महाराजगंज सीओ रविंद्र राम,बीडीओ डॉ. रवि रंजन के अलावे कई अधिकारियों ने काफी मशक्कत की। इसके बाद महाराजगंज एसडीपीओ तथा एसडीओ के आश्वासन के बाद सड़क पर जाम कर रहे लोगों को हटाया गया।

खबरें और भी हैं...