75 तालाबों को संवारने की कार्य योजना तैयार:महोबा में अमृत सरोवर योजना के तहत किया जाएगा काम, चंदेल कालीन तालाबों की लौटेगी शान

महोबा3 महीने पहले

ऐतिहासिक नगरी महोबा को संजाने और संवारने के लिए अमृत सरोवर योजना से 75 तालाबों की सूरत बदल जाएगी। इन सभी तालाबों को पर्यटन के लिए तैयार किया जाएगा। योजना में एक एकड़ से अधिक क्षेत्रफल में फैले तालाबों को शामिल किया गया है। जिनकी खुदाई कराने के साथ घाट, कुर्सियां व आकर्षक लाइटिंग की व्यवस्था होगी। जिला अधिकारी ने बताया कि तालाबों को सजाने और संवारने की कार्य योजना पर काम शुरू कर दिया गया है।

सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आल्हा उदल की नगरी महोबा में तालाबों के कायाकल्प करने के लिए अमृत सरोवर योजना के अंतर्गत तालाबों को संजाने और संवारने का काम किया जाएगा। डीएम मनोज कुमार ने इस योजना पर गंभीरता दिखाते हुए सम्बंधित विभागों को भी निर्देशित किया है। डीएम ने इस बावत अधिकारीयों के साथ बैठक की है। जिले के शहरी व ग्रामीण इलाकों में जल संचयन और शुद्ध हवा के लिए अमृत सरोवर योजना शुरू की गई है।

पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

डीएम मनोज कुमार के निर्देश पर विकास विभाग ने शहरी व ग्रामीण इलाकों के एक एकड़ से अधिक भू-भाग में फैले तालाबों को चिंहित कर सूची तैयार की है। इन तालाबों के कायाकल्प की जिम्मेदारी जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत, नगर पालिका व नगर पंचायतों को सौंपी गई है। योजना का मुख्य उद्देश्य स्थायी जलस्रोतों के साधन तालाबों में अधिक से अधिक जल संचयन करना है। तालाबों की खुदाई कार्य के अलावा उनको प्राकृतिक स्वरूप देने के लिए वृह्द पौधरोपण, टहलने के लिए फुटपाथ का निर्माण कराया जाएगा।

तालाबों की बनाई गई सूची

डीएम मनोज कुमार बताते है कि सीएम योगी के निर्देश पर कार्ययोजना पर काम शुरू कर दिया गया है। वीराने से पड़े रहने वाले इन तालाबों को पर्यटन के लिए विकसित किया जाएगा। बुंदेलखंड के कश्मीर कहे जाने वाले चरखारी क्षेत्र के तालाबों को भी इसमें शामिल किया गया है। वहीं ऐतिहासिक तालाबों का भी कायाकल्प होगा।

सरकार की अमृत सरोवर योजना से तालाबों के जीर्णोंद्धार कराने की कार्ययोजना की स्थानीय लोग भी प्रशंसा कर रहे हैं। बुंदेली समाज के संयोजक व सामजसेवी तारा पाटकार के बताया कि इस योजना के चंदेलकालीन तालाबों को फिर से उनका असली स्वरूप और वैभव मिल जाएगा।

खबरें और भी हैं...