रामपुर में आजम के गढ़ पर बीजेपी का कब्जा:मैनपुरी में रिकॉर्ड 2.88 लाख वोट से डिंपल जीतीं, भाजपा ने खतौली खोया

मैनपुरी/रामपुर/खतौली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी उपचुनावों में भाजपा ने बड़ा उलटफेर करते हुए रामपुर में सपा प्रत्याशी को हरा दिया है। यहां पहली बार कमल खिला है। यहां से भाजपा के आकाश सक्सेना ने जीत हासिल की है। मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव की बहू डिंपल यादव ने रिकॉर्ड जीत की है। वहीं मुजफ्फरनगर की खतौली विधानसभा सीट सपा गठबंधन ने बीजेपी से छीन ली है।

अब आपको बताते हैं मैनपुरी लोकसभा और रामपुर-खतौली विधानसभा उपचुनाव के बारे में

मैनपुरीः डिंपल को 64% वोट के साथ 618120 मत मिले

समाजवादी पार्टी मुलायम सिंह यादव की विरासत मैनपुरी को बचाने में एक बार फिर कामयाब हो गई है। मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में सपा ने रिकॉर्ड जीत हासिल की है। डिंपल ने भाजपा के रघुराज शाक्य को 2,88,461 वोटों हरा दिया है। चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व डिंपल यादव नवीन मंडी परिसर पहुंचे। यहां जिला निर्वाचन अधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने उन्हें जीत का प्रमाणपत्र सौंपा।

डिंपल को 64 प्रतिशत वोट के साथ 618120 मत मिले हैं। रघुराज शाक्य को 34.18 प्रतिशत के साथ 329659 वोट हासिल किए हैं। इस ऐतिहासिक जीत के साथ डिंपल यादव मैनपुरी लोकसभा सीट से पहली महिला सांसद बन गई हैं।

रामपुरः पहली बार कमल खिला

रामपुर में भाजपा से आकाश सक्सेना ने जीत दर्ज की है। आकाश काउंटिंग के आखिर वक्त में बड़ी जीत दर्ज की।
रामपुर में भाजपा से आकाश सक्सेना ने जीत दर्ज की है। आकाश काउंटिंग के आखिर वक्त में बड़ी जीत दर्ज की।

रामपुर विधानसभा उपचुनाव में पहली बार कमल खिला है। बीजेपी के आकाश सक्सेना को 81432 वोट मिले हैं। वहीं आसिम रजा को 47296 वोट मिले हैं। 34136 वोटों से आजम खान के करीबी आसिम रजा को शिकस्त मिली है।

भाजपा प्रत्याशी आकाश सक्सेना 21वें राउंड बड़ा उलटफेर करते हुए आसिम रजा को पीछ कर दिया। इसे पहले आसिम लगातार 5-6 हजार वोटों से आगे चल रहे थे। 34वें राउंड की गिनती में आकाश की जीत पक्की हो गई।

खतौली: भाजपा ने खोई सीट

सपा-रालोद गठबंधन ने मदन भैया (काली सदरी में) को खतौली से टिकट दिया था। मदन ने निर्वतमान विधायक विक्रम सैनी की पत्नी राजकुमारी सैनी को हराया है।
सपा-रालोद गठबंधन ने मदन भैया (काली सदरी में) को खतौली से टिकट दिया था। मदन ने निर्वतमान विधायक विक्रम सैनी की पत्नी राजकुमारी सैनी को हराया है।

मुजफ्फरनगर की खतौली विधानसभा में सपा-रालोद गठबंधन के मदन भैया की जीत हुई है। मदन भैया को 97139 वोट मिले हैं, जबकि भाजपा प्रत्याशी और पूर्व विधायक विक्रम सैनी की पत्नी राजकुमारी सैनी को 74995 वोट मिले हैं। यहां मदन भैया 22144 वोट के मार्जिन से जीत दर्ज की है।

मदन भैया ने पिछला चुनाव लगभग 15 साल पहले जीता था। जबकि राजकुमारी सैनी के पति विक्रम सैनी 2022 में चुनाव जीत कर विधायक बने थे। उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द होने की वजह से ही उपचुनाव हो रहे थे।

जीत के बाद अखिलेश बोले- मैनपुरी की जनता ने नकारात्मक लोगों को बाहर किया

मैनपुरी उपचुनाव जीतने के बाद रात में अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान डिंपल के अलावा परिवार के सभी सदस्य मौजूद रहे।
मैनपुरी उपचुनाव जीतने के बाद रात में अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान डिंपल के अलावा परिवार के सभी सदस्य मौजूद रहे।

अखिलेश यादव डिंपल के साथ जीत का सर्टिफिकेट लेने कलेक्ट्रेट पहुंचे। इस दौरान डिंपल के साथ अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। अखिलेश ने कहा, "ये जीत मैनपुरी के मतदाताओं की जीत है। मैं मैनपुरी के एक-एक मतदाता को धन्यवाद देता हूं। यहां के वोटरों ने सपा की ऐतिहासिक जीत के रूप में नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित की है।

मैं मैनपुरी की जनता को धन्यवाद देता हूं। मैनपुरी की जनता ने नकारात्मक लोगों को बाहर किया है। नेताजी ने लोगों को आपस में एक दूसरे का सम्मान करके लोगों को एक दूसरे से जोड़कर भाईचारे की राजनीति की है। लोगों ने उसी का समर्थन किया है।

नेताजी ने जिस तरीके से मैनपुरी को आगे बढ़ाने का काम किया। हम समाजवादी लोग उसे आगे बढ़ाने का काम करेंगे। हम मैनपुरी में जनता को धन्यवाद देते हैं। खतौली में रालोद के प्रत्याशी को जिताने के लिए भी धन्यवाद देते हैं।" डिंपल ने भी मैनपुरी की जनता का आभार जताया और धन्यवाद दिया।

रामपुर में हार पर प्रशासन को घेरा

अखिलेश यादव ने कहा, "रामपुर में प्रशासन ने कई लोगों को वोट डालने नहीं दिया। लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने दिया गया। मतदान केंद्रों से मतदाताओं को वापस लौटाया गया। लेकिन फिर जनता घरों से बाहर निकली और मतदान किया। रामपुर में अगर प्रशासन ने फेयर इलेक्शन करवाया होता तो सपा की वहां पर भी ऐतिहासिक जीत होती।"

मैनपुरी सीट पर महिलाओं को कभी नहीं मिली जीत

डिंपल यादव जीत का सर्टिफिकेट लेने के बाद परिवार सहित मुलायम सिंह यादव की समाधि स्थल पर पहुंची। मोमबत्ती जलाकर मुलायम सिंह को श्रद्धांजलि दी गई।
डिंपल यादव जीत का सर्टिफिकेट लेने के बाद परिवार सहित मुलायम सिंह यादव की समाधि स्थल पर पहुंची। मोमबत्ती जलाकर मुलायम सिंह को श्रद्धांजलि दी गई।

मैनपुरी लोकसभा सीट के तीन चुनावों में चार बार महिला प्रत्याशी चुनाव लड़ चुकी हैं। लेकिन जीत का ताज इनसे कोसों दूर रहा। 2004 के उपचुनाव में जहां कांग्रेस के टिकट पर सुमन चौहान ने चुनाव लड़ा था तो वहीं 2009 में भाजपा से तृप्ति शाक्य और और 2014 में बसपा से डॉ. संघमित्रा मौर्या और निर्दलीय प्रत्याशी राजेश्वरी देवी ने चुनाव लड़ा था, लेकिन कोई भी महिला प्रत्याशी नहीं जीत सकी। इस बार उपचुनाव में सपा ने डिंपल यादव को उतारा। चुनाव में मुलायम का जलवा और डिंपल का चेहरा था। प्रचार में सैफई परिवार ने एकजुट होकर डिंपल के लिए वोट मांगे। इसका नतीजा भी उपचुनाव में सपा की बड़ी जीत के तौर पर सामने आया।

अब जानिए रूझान के दौरान किसने क्या कहा

  • धर्मेंद्र यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, "उपचुनाव ने इस बात का संदेश दिया है कि आने वाले समय में पूरे प्रदेश में यही परिणाम आएगा। अभी तक एक तिहाई वोटों की गिनती के आए परिणामों को देखते हुए अनुमान है कि डिंपल 2.5 लाख से ज्यादा वोटों से जितेंगी। अगर यह आंकड़ा 3 भी पर कर गया तो आश्चर्य की बात नहीं होगी।"
  • उपचुनाव के रूझानों से भाजपा में हलचल मची है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी का शामली दौरा रद्द कर दिया गया है। शामली में उन्हें प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी थी।
  • शिवपाल यादव ने 11.45 बजे पर ट्विटर पर लिखा- मैनपुरी के मतदाताओं से मिले आशीर्वाद, स्नेह व अपार जन समर्थन के लिए हृदय से आभार।
  • काउंटिंग से पहले अखिलेश के चेचेरे भाई धर्मेंद्र यादव ने कहा, "भाजपा रिजल्ट चेंज करने के लिए EVM बदल देती है। मैनपुरी के लोगों का आशीर्वाद हमारे साथ है।"
  • धर्मेंद्र यादव ने रामपुर को लेकर भी बयान दिया। कहा, " वहां लोकतंत्र की लूट नहीं डकैती हुई है। लोगों को वोट देने से रोका गया। प्रताड़ित किया गया। लेकिन उसके बाद भी आसिम रजा ही चुनाव जीतेंगे।"

अब देखिए काउंटिंग से जुड़ी तस्वीरें...

सपा में प्रसपा के विलय के बाद शिवपाल यादव की गाड़ी पर सपा का झंडा लगाते हुए आदित्य यादव और अंशुल यादव।
सपा में प्रसपा के विलय के बाद शिवपाल यादव की गाड़ी पर सपा का झंडा लगाते हुए आदित्य यादव और अंशुल यादव।
प्रसपा का सपा में विलय होने के बाद अखिलेश के चचेरे भाई अंशुल यादव ने शिवपाल की गाड़ी पर लगा प्रसपा का झंडा हटा दिया।
प्रसपा का सपा में विलय होने के बाद अखिलेश के चचेरे भाई अंशुल यादव ने शिवपाल की गाड़ी पर लगा प्रसपा का झंडा हटा दिया।
मैनपुरी में डिंपल यादव ने की जीत को देखते हुए सपा के कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया। कार्यकर्ता सपेरों को बुला लाए और नागिन डांस किया।
मैनपुरी में डिंपल यादव ने की जीत को देखते हुए सपा के कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया। कार्यकर्ता सपेरों को बुला लाए और नागिन डांस किया।
मैनपुरी में जीत की तस्वीर साफ होने पर अखिलेश यादव ने सैफई में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान शिवपाल यादव भी साथ रहे।
मैनपुरी में जीत की तस्वीर साफ होने पर अखिलेश यादव ने सैफई में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान शिवपाल यादव भी साथ रहे।
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शिवपाल और अखिलेश यादव काफी देर तक एक साथ बैठे रहे।
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शिवपाल और अखिलेश यादव काफी देर तक एक साथ बैठे रहे।
मैनपुरी में जीत पक्की होते ही शिवपाल यादव और उनके बेटे आदित्य यादव मुलायम की समाधि स्थल पर पहुंचे और नमन किया।
मैनपुरी में जीत पक्की होते ही शिवपाल यादव और उनके बेटे आदित्य यादव मुलायम की समाधि स्थल पर पहुंचे और नमन किया।
मैनपुरी में जीत के रुझानों के बीच डिंपल यादव अपने समर्थकों के साथ मंदिर पहुंचीं।
मैनपुरी में जीत के रुझानों के बीच डिंपल यादव अपने समर्थकों के साथ मंदिर पहुंचीं।
लखनऊ के सपा कार्यालय में महिला कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया।
लखनऊ के सपा कार्यालय में महिला कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया।
ये तस्वीर भी लखनऊ की है। सपा कार्यकर्ताओं ने ढोल-नगाड़ों के साथ डांस किया।
ये तस्वीर भी लखनऊ की है। सपा कार्यकर्ताओं ने ढोल-नगाड़ों के साथ डांस किया।

शिवपाल ने अपनी पार्टी का सपा में विलय किया
शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी यानी प्रसपा का विलय समाजवादी पार्टी में हो गया है। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल को पार्टी का झंडा सौंपा। अखिलेश ने शिवपाल का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। इसके बाद दोनों काफी देर तक कार्यकर्ताओं के बीच में साथ-साथ बैठे नजर आए। शिवपाल ने कहा कि अब कभी सपा का झंडा गाड़ी से नहीं उतरेगा। पूरी खबर पढ़ें...