कोविड पॉजिटिव 3 मरीज लौटे देश:कोविड पॉजिटिव आये 8 में से 3 हुए विदेश रवाना, स्वास्थ्य विभाग के अनुसार रिपोर्ट आने से पहले ही निकल गए

मथुरा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मथुरा में 8 मिले कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 3 विदेश रवाना भी हो गए। फिलहाल 5 मरीज मथुरा के वृंदावन में होम आइसुलेट हैं - Dainik Bhaskar
मथुरा में 8 मिले कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 3 विदेश रवाना भी हो गए। फिलहाल 5 मरीज मथुरा के वृंदावन में होम आइसुलेट हैं

मथुरा में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि वह पॉजिटिव आये मरीजों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के साथ मरीजों का ध्यान रख रहा है। लेकिन इस सबसे अलग स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। मथुरा में 8 मिले कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 3 विदेश रवाना भी हो गए। फिलहाल 5 मरीज मथुरा के वृंदावन में होम आइसुलेट हैं।

शनिवार को कराया टेस्ट,रविवार को गए अपने देश

विदेश गए 3 मरीजों ने शनिवार को एक निजी लैब से टेस्ट कराया जिसकी रिपोर्ट सोमवार को स्वास्थ्य विभाग को मिली। स्वास्थ्य विभाग ने जब मरीजों की जानकारी की तो पता चला वह अपने देश रविवार को ही चले गए। अपने देश जाने वालों में दो रसिया और एक स्विटजरलैंड का है।

स्वास्थ्य विभाग ने मांगी एयरपोर्ट से रिपोर्ट

3 मरीजों के अपने देश वापस जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया। जिसके बाद एयरपोर्ट से रिपोर्ट मांगी गई। लेकिन तब तक बहुत देर हो गयी और तीनों अपने देश के लिए रवाना हो चुके थे। अब स्वास्थ्य विभाग यह पता करने में जुटा है कि आखिर यह लोग बिना रिपोर्ट के अपने देश कैसे चले गए।

कहीं फर्जी रिपोर्ट तो नहीं कराई तैयार

मामला सामने आने के बाद जब सीएमओ डॉ रचना गुप्ता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि 8 में से 3 अपने कंट्री जा चुके हैं ,4 होम आइसुलेट हैं एक यूएस का सिटीजन है उसकी कांट्रैक्ट ट्रेसिंग कर रहे हैं। मथुरा में कोविड की संभावना नगण्य थी इसलिए यह सम्भावना कम है कि यहां से इंफेक्टेड हुए , सम्भावना है कि यह या तो किसी विदेशी के कांट्रैक्ट में आये या फिर अपने देश से ही इंफेक्टेड थे। वहीं जब उनसे यह जानने की कोशिश की कि यह लोग बिना रिपोर्ट के अपने देश कैसे चले गए। इस सवाल पर वह कुछ भी जवाब नहीं दे सकी। इसके बाद सवाल खड़ा होता है कि आखिर विदेशी बिना रिपोर्ट के कैसे चले गए। क्या उन्होंने कोई फर्जी रिपोर्ट तैयार कराई।