मथुरा में 3 दिन में 4 विदेशी कोरोना पॉजिटिव:यूरोपीय देशों से 60 सदस्यों का दल आया था घूमने, जहां ठहरे थे वह बिल्डिंग कंटेनमेंट जोन घोषित

मथुरा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मथुरा के वृंदावन में लगातार तीसरे दिन एक और विदेशी महिला कोविड पॉजिटिव पाई गई। वह रूस से भारत आई थी। इससे पहले शनिवार को 1, रविवार को 2 और सोमवार को 1 विदेशी महिला व 1 स्थानीय युवक के पॉजिटिव आने के बाद अब यहां एक्टिव केस 5 हो गए हैं। पॉजिटिव मिलने के बाद रमणरेती इलाके में स्थित बिल्डिंग को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है।

यूरोपीय देशों का 60 सदस्यीय दल वृंदावन घूमने के लिए 15 नवंबर को आया था। इन लोगों को 21 को वापस जाना था लेकिन, कई सदस्य यहां रुक गए। इसके बाद कुछ सदस्य वापस चले गए, जबकि कुछ रह गए। अब इन लोगों ने वापस अपने देश लौटने से पहले एयरपोर्ट पर कोविड रिपोर्ट दिखाने के लिए टेस्ट कराया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

41 साल की महिला मिली पॉजिटिव

भगवान राधा कृष्ण के प्रेम की भूमि वृंदावन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मन की बात कार्यक्रम में जिक्र किया
भगवान राधा कृष्ण के प्रेम की भूमि वृंदावन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मन की बात कार्यक्रम में जिक्र किया

शनिवार को 30 साल की महिला के पॉजिटिव मिलने के बाद रविवार को 2 पॉजिटिव मिले। इसके बाद सोमवार को आई रिपोर्ट में ट्रैवल के लिए आई एक और महिला पॉजिटिव पाई गई। हालांकि, कोविड पॉजिटिव पाए गए चारों मरीज होम आइसोलेट हैं और उनको किसी तरह का कोई सिस्टम्स नहीं हैं।

मथुरा में कोविड महामारी को लेकर स्थिति की बात की जाए तो यहां अब तक 1105410 सैंपल लिए गए, जिसमें से कुल 20304 मरीज कोविड पॉजिटिव पाए गए। कोविड पॉजिटिव मरीजों में से 19897 डिस्चार्ज हो गए। जबकि 402 की मृत्यु हो गई। वर्तमान में 5 एक्टिव मरीज हैं जिनमें से 4 विदेशी हैं।

बरती जा रही सतर्कता

मथुरा में कोविड महामारी को लेकर स्थिति की बात की जाए तो यहां अब तक 1105410 सैंपल लिए गए
मथुरा में कोविड महामारी को लेकर स्थिति की बात की जाए तो यहां अब तक 1105410 सैंपल लिए गए

विदेशी श्रद्धालुओं के कोविड पॉजिटिव मिलने के बाद इस्कॉन मंदिर में सतर्कता बरती जा रही है। इस्कॉन पीआरओ विमल कृष्ण दास ने बताया कि सैनेटाइजर किया जा रहा है , मास्क लगाकर आने की अपील कर रहे हैं। इसके साथ ही तापमान भी चेक किया जा रहा है। ज्यादातर लोग कोविड नियमों का पालन कर रहे हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो लापरवाही बरतते हैं।