बाल श्रम के खिलाफ अभियान:मथुरा में चाइल्ड लाइन के खिलाफ चलाया अभियान, श्रम विभाग की टीम भी रही साथ

मथुरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाल श्रम के खिलाफ अभियान चलाते हुए चाइल्ड लाइन संस्था के पदाधिकारी एवं श्रम विभाग के अधिकारी - Dainik Bhaskar
बाल श्रम के खिलाफ अभियान चलाते हुए चाइल्ड लाइन संस्था के पदाधिकारी एवं श्रम विभाग के अधिकारी

बाल श्रम के खिलाफ शुक्रवार को मथुरा में अभियान चलाया गया। चाइल्ड लाइन संस्था ने श्रम विभाग के साथ मिलकर अभियान चलाकर जगह जगह छापेमारी की। शहर कोतवाली और थाना हाई वे क्षेत्र में की गई छापेमारी में विभिन्न दुकानों पर 6 बाल श्रमिक मिले।

दो थाना क्षेत्रों में चलाया अभियान

शुक्रवार को चाइल्ड लाइन संस्था ने एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट और श्रम विभाग के साथ मिलकर बाल श्रम के विरुद्ध अभियान चलाया। टीम ने शहर कोतवाली और थाना हाई वे क्षेत्र में छापामार कार्यवाही की। इस दौरान टीम के सदस्यों ने बाल श्रम रोकने के लिए जन जागरूकता अभियान भी चलाया।

बाल श्रम करते मिले 6 बच्चे

बाल श्रम के विरुद्ध प्रभारी निरीक्षक शिव कुमार सिंह थाना AHTU जनपद मथुरा के नेतृत्व में सिटी चाइल्ड लाइन, श्रम विभाग के सहयोग से थाना कोतवाली व थाना हाइवे के अंतर्गत दुकानों और फैक्ट्रियों में बाल श्रम रोकथाम और जन जागरूकता अभियान चलाया गया। जिसमें दुकानों पर लगभग 6 बाल श्रमिक पाए गए। श्रम विभाग द्वारा बाल श्रम (निषेध और विनियमन) संशोधित अधिनियम 2016 के तहत दुकान मालिकों एवं होटल मालिक के विरुद्ध कार्यवाही की गई।

जारी रहेगा अभियान

शिव कुमार सिंह प्रभारी निरीक्षक थाना AHTU मथुरा ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देश पर बाल श्रम के विरुद्ध अभियान चलाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत बाल श्रम के विरुद्ध कार्यवाही की गई और उक्त सूचना बाल कल्याण समिति को भी दी जाएगी। आगे भी इस अभियान को सुचारु रखा जाएगा।

12 घंटे काम करने के मिलते हैं 3 से 6 हजार रुपए

नरेन्द्र परिहार कोआर्डिनेटर चाइल्ड लाइन मथुरा ने बताया कि बच्चों से बातचीत के दौरान पता चला कि उन्हें 12 घंटे काम करने के 3 से 6 हजार रुपए प्रतिमाह मिलते है। यह सभी बच्चे 14 से अधिक की आयु के थे। वह स्कूल नही जाते है तथा उन्हें दुकान मालिक द्वारा कोई छुट्टी भी नही मिलती है। चाइल्ड लाइन द्वारा बच्चों के परिजनों से सम्पर्क किया जाएगा तथा बच्चों का स्कूल में प्रवेश के साथ साथ योजनाओं से भी लाभ दिलाने का प्रयास किया जाएगा।

दुकानदारों को दिया नोटिस

एम.एल. पाल सहायक श्रमायुक्त मथुरा ने बताया कि श्रम विभाग द्वारा बाल कानून के तहत दुकान मालिकों को नोटिस दिया गया है। जिसके अंतर्गत 20000 रुपए का जुर्माना लगाया गया है। साथ ही बच्चो को श्रम विभाग की योजनाओं से भी लाभान्वित किया जाएगा। इस अभियान के दौरान उप निरीक्षक अशोक पवार, मुख्य आरक्षी राम सेवक, आरक्षी योगेश कुमार AHTU, श्रम प्रवर्तन अधिकारी नरेन्द्र कुमार तथा चाइल्ड लाइन सदस्य कृष्ण कुमार सैनी मौजूद रहे।