पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सावधान! कहीं आप कैंसर वाली नमकीन तो नहीं खा रहे:मथुरा में नमकीन और सरसों के तेल के सैंपल में लैब से आई रिपोर्ट में मिले खतरनाक तत्व, एफडीए ने बिक्री पर लगाई रोक

मथुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोगली ब्रांड की नमकीन में खतरनाक टेट्राजिन रसायन रंग के प्रयोग खुलासा हुआ, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी को शरीर में जन्म देता है। - Dainik Bhaskar
मोगली ब्रांड की नमकीन में खतरनाक टेट्राजिन रसायन रंग के प्रयोग खुलासा हुआ, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी को शरीर में जन्म देता है।

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन द्वारा मथुरा में जून महीने में चेकिंग के दौरान की गई कार्रवाई के दौरान अलग-अलग स्थानों से जांच के लिए भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट बुधवार को मिली। जिसमें चांसलर ब्रांड के सरसों के तेल और मोगली ब्रांड की नमकीन के सैंपल में खतरनाक कैमिकल मिले। लैब से मिली रिपोर्ट में इनके प्रयोग को खतरनाक बताया गया है।

नमकीन में मिलाया जा रहा था कैंसर की बीमारी को जन्म देने वाला रंग

एफडीए द्वारा लिए गए सैंपल की रिपोर्ट जब राजकीय जन विश्लेषक खाद्य प्रयोगशाला के अधिकारियों को मिली तो उनके होश उड़ गए। रिपोर्ट में मोगली ब्रांड की नमकीन में खतरनाक टेट्राजिन रसायन रंग के प्रयोग खुलासा हुआ, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी को शरीर में जन्म देता है। लैब ने इसके प्रयोग को आम जन के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक बताया ।

सरसों के तेल में मिला परॉक्साइड

चांसलर ब्रांड के सरसों के तेल के लिए सैंपल भी लैब ने फेल कर दिए हैं। लैब से मिली रिपोर्ट में चांसलर ब्रांड के सरसों के तेल में परॉक्साइड जैसा खतरनाक केमिकल मिला है। इसके प्रयोग से हार्मोन्स में कमी हो जाती है।

नमकीन और सरसों के तेल पर लगाई रोक

एफडीए अधिकारी डॉ. गौरी शंकर ने बताया कि जांच रिपोर्ट में जन विश्लेषक खाद्य प्रयोगशाला ने दोनों खाद्य पदार्थ, चांसलर ब्रांड सरसों का तेल तथा मोगली ब्रांड नमकीन को विक्रय और भंडारण के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। साथ ही कारोबारियों से अपील है कि दोनों खाद पदार्थों की बिक्री और भंडारण न करें। अगर कोई कारोबारी बिक्री भंडारण करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।