यमुना एक्सप्रेस-वे पर उतरा विमान:सड़क पर टू-सीटर विमान की इमरजेंसी लैंडिंग हुई, अलीगढ़ से हरियाणा जा रहा था; दोनों पायलट सुरक्षित

मथुरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रेनी विमान हरियाणा के नारनौल से अलीगढ़ जा रहा था। - Dainik Bhaskar
ट्रेनी विमान हरियाणा के नारनौल से अलीगढ़ जा रहा था।

उत्तर प्रदेश के आगरा-नोएडा यमुना एक्सप्रेस वे पर गुरुवार दोपहर करीब 1:15 बजे एक बड़ा हादसा बाल-बाल टल गया। यहां एक निजी कंपनी के ट्रेनी एयर क्राफ्ट विमान में तकनीकी खराबी आने पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। पायलट की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया।

सूझबूझ से पायलेट ने लिया काम, टला हादसा
जानकारी के अनुसार, एक निजी कंपनी के ट्रेनी एयर क्राफ्ट (सेशना फाइव टू) ने अलीगढ़ स्थित धनीपुर हवाई पट्टी से ट्रेनी एयर क्राफ्ट ने हरियाणा के नारनौल जाने के लिए करीब 12:30 मिनट उड़ान भरी। टू-सीटर विमान के उड़ान भरने के करीब 25 मिनट बाद ही पावर लॉस हो गया। विमान में अचानक आई तकनीकी खराबी की जानकारी पायलट जाग्रत ने धनीपुर स्थित हवाई पट्टी पर अपनी कंपनी के अधिकारियों को दी। जिसके बाद पायलट ने इमरजेंसी लैंडिंग का निर्णय लिया। जिस समय एयर क्राफ्ट की इमरजेंसी की जानी थी, उस समय एयर क्राफ्ट यमुना एक्सप्रेस-वे के ऊपर उड़ रहा था। पायलट जाग्रत ने देखा कि एक्सप्रेस-वे पर ट्रैफिक न के समान हैं। उन्होंने विमान को एक्सप्रेस वे पर लैंडिंग कराने का निर्णय लिया और थाना नौहझील क्षेत्र के माइलस्टोन-72 पर सफलतापूर्वक लैंड कर दिया। दोपहर करीब एक बजे हुई इस आपातकालीन लैंडिंग के दौरान पायलट जाग्रत ने पूरी सावधानी बरती। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा कि उनके द्वारा की जा रही विमान की लैंडिंग से किसी को कोई दिक्कत न हो। इस दौरान पायलट जाग्रत के साथ ट्रेनी पायलट आदित्य गोयल भी मौजूद थे।
सुनें प्रत्क्षयदर्शी की जुबानी
प्रत्क्षयदर्शी प्रदीप पांचाल बताते हैं कि वह अपने खेत के पास ही थे कि तभी उनको ये छोटा प्लेन उतरता हुआ दिखाई दिया। जिस समय यह प्लेन उतर रहा था उस समय एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियां नहीं थी। प्रदीप बताते हैं कि एक बार तो उनको लगा कि यह पहले की तरह अचानक सुरक्षा के नजरिए से किए जाने वाला कोई प्रयोग तो नहीं। लेकिन जब वह उसके पास पहुंचे तब पता चला कि इसे यहां खराबी आने के कारण आपातकाल में लैंड किया गया हैं।

विमान को देखने के लिए जमा हुए लोग
विमान को देखने के लिए जमा हुए लोग

पुलिस रही तैनात
एयर क्राफ्ट की इमरजेंसी लैंडिंग की जानकारी मिलते ही थाना नौहझील प्रभारी लोकेश भाटी मय फोर्स के मौके पर पहुंच गए। थाना प्रभारी लोकेश भाटी ने बताया कि विमान की लैंडिंग की सूचना मिलते ही वह करीब 15 मिनट में मौके पर पहुंच गए। जब मौके पर आकर देखा तो विमान एक्सप्रेस वे पर एक किनारे पर खड़ा मिला। विमान की लैंडिंग से यातायात पर कोई असर नहीं पड़ा। यातायात व्यवस्थित तरीके से सुचारू हैं। वहीं, सुरक्षा के लिए कुछ पुलिस कर्मी तैनात कर दिए गए हैं।

विमान को दुरुस्त करने में जुटे इंजीनियर
तकनीकी खराबी के कारण एक्सप्रेस वे पर लैंड हुए विमान को दुरुस्त करने के लिए कंपनी के इंजीनियर करीब 4:30 बजे मौके पर पहुंचे। विमान में आई कमी को दुरुस्त करने में जुटे हैं।

क्या कहती है कंपनी?
निजी कंपनी के एयर क्राफ्ट की हुई इमरजेंसी लैंडिंग के बारे में कंपनी के चीफ पायलट अनिल कुमार ने दैनिक भास्कर की टीम से बातचीत में बताया कि ये एयर क्राफ्ट 10 से 12 साल पुराना था। इसके इंजन में पॉवर लॉस हुआ। जिसकी वजह से इस विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। फिलहाल वह और टीम मौके पर पहुंच रहे हैं।