आकाशीय बिजली का कहर:मथुरा के छाता क्षेत्र में आकाशीय बिजली गिरने से किसान की मौत , दूसरा किसान हुआ गम्भीर घायल,प्रशासन ने आर्थिक सहायता का दिया आश्वासन

मथुरा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मथुरा के छाता में आकाशीय बिजली से घायल लक्ष्मी नारायण का सामुदायिक केंद्र में इलाज चल रहा है - Dainik Bhaskar
मथुरा के छाता में आकाशीय बिजली से घायल लक्ष्मी नारायण का सामुदायिक केंद्र में इलाज चल रहा है

कृष्ण नगरी मथुरा में तीसरी लहर के बीच अब कुदरत का कहर भी दिख रहा है। शनिवार की सुबह हल्की बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से खेत की रखवाली कर रहे किसान की मौत हो गयी जबकि दूसरा गम्भीर रूप से घायल हो गया। हादसे के बाद प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए और शासन से आर्थिक सहायता दिलाने जाने का आश्वासन दिया।

शनिवार सुबह हुआ हादसा

शनिवार की सुबह 5 बजे मथुरा के छाता क्षेत्र में आकाशीय बिजली का कहर देखने को मिला। यहां बिजली गिरने की बजह से खेत की रखवाली कर रहे 58 वर्षीय किसान लीलाधर व पड़ोस के खेत में अपना खेत रखा रहे दूसरा किसान लक्ष्मीनारायण गम्भीर रूप से घायल हो गए। हादसे की जानकारी मिलते ही परिजन दोनों को छाता स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए । जहां डॉक्टरों ने लीलाधर को मृत घोषित कर दिया। वहीं लक्ष्मीनारायण का इलाज चल रहा है।

आवारा जानवरों से बचा रहे थे खेत

अस्पताल में इलाज के लिए लाए गए किसान लक्ष्मीनारायण ने बताया कि आवारा जानवर खेतों में घुसकर फसल बर्बाद कर देते हैं। उनसे अपनी फसलों को बचाने के लिए खेतों पर गए थे। सुबह के समय कुछ जानवर खेतों में घुस आए। जानवरों को भगाने के लिए लीलाधर और लक्ष्मीनारायण पीछे भागे तभी अचानक क्या हुआ पता ही नहीं चला।

हादसे की जानकारी मिलते ही पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी

हादसे की जानकारी मिलते ही ग्रामीण घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़े। ग्रामीणों ने इसकी सूचना तहसीलदार को दी। सूचना मिलते ही तहसीलदार विवेकशील यादव अस्पताल पहुंच गए। जहां उन्होंने ग्रामीणों से बात कर शासन से मदद दिलाने का भरोसा दिया। तहसीलदार विवेकशील यादव ने बताया कि दैवीय आपदा सहायता और किसान दुर्घटना सहायता के तहत इनकी मदद की जाएगी। तहसील स्तर से फ़ाइल 24 घण्टे में उच्चाधिकारियों के यहां भेज दी जाएगी।