पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मथुरा में आपस में भिड़ गए सपा नेता:जिलाध्यक्ष के खिलाफ पार्टी के पूर्व प्रत्याशी ने लिखाया मुकदमा, जान से मारने की धमकी देने का लगाया आरोप

मथुरा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राजेन्द्र फरारी का आरोप है कि प्रदीप चौधरी कार्यकर्ताओं को परेशान करते हैं। उनके साथ कोई मारपीट नहीं हुई है। - Dainik Bhaskar
राजेन्द्र फरारी का आरोप है कि प्रदीप चौधरी कार्यकर्ताओं को परेशान करते हैं। उनके साथ कोई मारपीट नहीं हुई है।

मथुरा में समाजवादी पार्टी के दो नेता जमीन के विवाद को लेकर आपस मे भिड़ गए। जमीन के बैनामे को लेकर गोवर्द्धन विधानसभा क्षेत्र से सपा के पूर्व प्रत्याशी ने जिलाध्यक्ष पर मारपीट और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया हैं। पुलिस ने मुकदमा लिख कर जांच शुरू कर दी हैं।

10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज
मथुरा में सपा के नेताओं में आपसी गुटबाजी का मामला सामने आया है। यहां समाजवादी पार्टी के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी और जिलाध्यक्ष में मारपीट हुई है। इस मामले में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने जिलाध्यक्ष सहित 10 लोगों पर जान से मारने की धमकी देने और मारपीट करने का केस दर्ज कराया हैं।

सपा नेता प्रदीप चौधरी ने जिलाध्यक्ष पर लगाया मारपीट का आरोप
थाना हाईवे क्षेत्र निवासी सपा नेता प्रदीप चौधरी का आरोप हैं कि समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन, राजेंद्र फरारी के अलावा मलहु गांव निवासी दिनेश, मान सिंह राघवेंद्र व अन्य 10- 12 लोगों के साथ उनके कार्यालय पर आए। जहां पर इन लोगों ने 21 जुलाई 2017 को मलहु गांव स्थित खसरा संख्या 397 रकबा 0.901 हैक्टेयर के आधे हिस्से के किये इकरारनामे को वापस मांगने लगे। प्रदीप चौधरी ने बताया कि इस पर उन्होंने कहा कि या तो रुपए वापस करो या बैनामा करो। यह सुनते ही लोकमणि कांत जादौन ने कहा कि इसे मारो और मारपीट शुरू कर दी।

थाना हाई वे में दर्ज कराया मुकदमा
समाजवादी पार्टी के नेता प्रदीप चौधरी ने इस मामले में थाना हाईवे में सपा जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन, राजेन्द्र फरारी सहित अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया।

थाना हाईवे में सपा जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन सहित अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।
थाना हाईवे में सपा जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन सहित अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

सपा नेताओं ने लगाया एक दूसरे पर आरोप
इस संबंध में जब दैनिक भास्कर टीम ने सपा जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन से जानकारी करने का प्रयास किया तो उनका फोन स्विच ऑफ मिला। इसके बाद राजेन्द्र फरारी से बात की गई। उनका आरोप है कि प्रदीप चौधरी कार्यकर्ताओं को परेशान करते हैं। इसी के संबंध में बात करने गए थे। कोई मारपीट नहीं हुई है। वहीं पूर्व प्रत्याशी प्रदीप चौधरी ने बताया कि अगर पार्टी से संबंधित कोई बात थी तो कार्यालय पर बुलाया जाता। उनके कार्यालय पर क्यों आये। सपा नेता का आरोप हैं कि यह लोग उनके घर पर 16 मिनट तक रुके रहे। इसका उन पर सीसीटीवी वीडियो भी हैं। फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...