पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नगर निगम की बैठक में हंगामा:मेयर पर लगाया 20 लाख रूपये रिश्वत मांगने का आरोप , दूकान को लेकर रिश्वत मांगने का है आरोप

मथुरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम की बैठक में हंगामा करते हुए लक्ष्मीचंद पाल और उसका परिवार - Dainik Bhaskar
नगर निगम की बैठक में हंगामा करते हुए लक्ष्मीचंद पाल और उसका परिवार

बुधवार को मथुरा वृन्दावन नगर निगम कार्यकारिणी की बैठक में हंगामा हो गया। यहाँ एक व्यक्ति अपने परिवार के साथ बैठक में पहुँच गया और उसने मेयर पर 20 लाख रूपये जबरन मांगने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। हंगामा बढ़ता देख निगम अधिकारीयों और पार्षदों ने किसी तरह आक्रोशित लोगों को शांत किया और जांच के लिए कमेटी बनाये जाने का आश्वाशन दिया।

दुकान के बदले रिश्वत मांगने को लेकर किया हंगामा

मथुरा के अंतापाड़ा निवासी लक्ष्मीचंद पाल आर्यसमाज रोड पर टेलर की दुकान करते हैं। वर्तमान में इस दुकान पर मालिकाना हक लख्मीचंद पाल पर है। नगर निगम की इस मार्किट में दो दुकान में से पूर्व मालिक पूरन चन्द खाट वालों ने डेढ दुकान वैध जी ज्वैलर्स को दे दी। बची आधी दुकान में किशन चन्द पाल के पुत्र लख्मी चन्द सिग्मी किरायेदार है। लक्ष्मीचंद पाल का आरोप है की महापौर उनकी दुकान को भी वैध जी ज्वैलर्स को देना चाहते है। इसी को लेकर वह कई बार 20 लाख रूपये मांग चुके हैं।

दुकान से होता है परिवार का पालन

लक्ष्मीचंद पाल का आरोप है कि वैध जी ज्वैलर्स के स्वामी ने उनकी आधी दुकान अपने नाम कराने के लिए महापौर को तीस लाख रू. दिए। पीड़ित परिवार को जब इसकी जानकारी हुई तो वह मेयर के पास पहुंचे तो मेयर ने उनसे कहा या तो बीस लाख रू. मुझे दे दो या 15 लाख रू. लेकर दुकान खाली कर दो। मेयर की दोनों बातों को मानने से पीड़ित परिवार ने इंकार कर दिया उसका कहना था कि न तो देने के लिए उनके पास 20 लाख रू. है और ना ही वह दुकान खाली करने के नाम पर 15 लाख रू. लेंगे क्योंकि दुकान से ही परिवार के नौ सदस्यों का जीवन यापन होता है। बताते है इसके पश्चात मेयर ने वैध जी के पक्ष में कोई कागज जारी कर दिया। जिसकी जानकारी मिलते ही बुधवार को पीड़ित परिवार सभी सदस्यों के साथ भूतेश्वर स्थित जलकल कम्पाउण्ड पहुंच गया। जहाँ निगम की कार्यकारिणी की बैठक चल रही थी। परिवार ने वहां पहुंचकर मेयर पर सनसनी खेज आरोप लगाये तो सभी भौंचक्के रह गये। इस सम्बन्ध में जब मेयर मुकेश आर्य बंधू से बात करने का प्रयास किया तो उनका फोन नहीं लग सका .

खबरें और भी हैं...