मथुरा में नहीं थम रहा कोरोना:4 और विदेशियों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, कान्हा के भक्त आए थे उनके दर्शन को

मथुरा10 महीने पहले

मथुरा में लगातार चौथे दिन विदेशी पर्यटक कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। मंगलवार को चार और विदेशियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। इससे पहले शनिवार को 1, रविवार को 2 और सोमवार को 1 विदेशी पॉजिटिव मिले हैं। अब यहां एक्टिव केस 8 हो गए हैं।

बिल्डिंग को किया सील
15 नवंबर को यूरोपीय कंट्री से कान्हा की भक्ति करने आया 60 सदस्यीय दल वृंदावन के रमणरेती इलाका स्थित शीतल छाया में गिरधर अपार्टमेंट में रुका। यहां से अपनी यात्रा पूरी कर जब ये लोग वापस जाने की तैयारी कर रहे थे तो उन्होंने कोविड टेस्ट कराया। शनिवार को 30 वर्षीय महिला कोविड पॉजिटिव आई। इसके बाद यहां से लगातार कोविड पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने गिरधर अपार्टमेंट को सील करते हुए एरिया को कंटेनमेंट जोन बना दिया है।

ओमिक्रॉन स्ट्रेन को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट
ओमिक्रॉन स्ट्रेन को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। गिरधर आश्रम में संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की लिस्ट तैयार कर टीम ने उनके कोविड सैंपल लिए। इसके साथ ही अन्य जगहों पर जहां विदेशी आते हैं, वहां पर भी 30 विदेशी भक्तों के सैंपल लेकर जांच को भेजे गए। स्वास्थ्य विभाग ने पॉजिटिव पाए गए मरीजों के सैंपल केजीएमयू लखनऊ भेजे हैं।

कोविड कंट्रोल प्रभारी डॉ. भूदेव ने बताया कि संक्रमित मरीजों को आश्रम में ही उनके कमरों में आइसोलेट किया गया है। उन्हें दवाइयों की किट दी जा रही है। साथ ही उन्हें जरूरी सावधानी बरतने की जानकारी दी है। डॉ. भूदेव ने बताया कि इनसे जब बात की गई तो कोविड पॉजिटिव मरीजों ने बताया कि आने से पहले उन्होंने टेस्ट कराया, तब वह नेगेटिव थे।

अलग-अलग देशों के हैं मरीज
कोविड पॉजिटिव पाए गए विदेशी मरीज फ्रांस, स्पेन और रूस के हैं। वहीं, विदेशियों के पॉजिटिव मिलने के बाद इस्कॉन टेंपल में सतर्कता बढ़ा दी गई है। मंदिर के पीआरओ विमल कृष्ण दास ने बताया कि कार्तिक के बाद से कोई विदेशी बाहर से नहीं आए। जो यहां कई सालों से रह रहे हैं, उन्हीं को आने-जाने दिया जा रहा है। इसके साथ ही मास्क जरूरी कर दिया है। जो एहतियात के तौर पर कदम होंगे, वह उठाए जाएंगे।

बाजारों से गायब हुए विदेशी
विदेशी श्रद्धालुओं के पॉजिटिव मिलने के बाद से धर्म की नगरी वृंदावन के बाजारों से विदेशी पर्यटक गायब हो गए हैं। वृंदावन का लोई बाजार, रमणरेती बाजार विदेशियों से गुलजार रहता था, लेकिन अब यहां विदेश गायब दिख रहे हैं।