मथुरा में मंदिर का छज्जा गिरने से 4 श्रद्धालु घायल:बंदरों के दो गुटों की लड़ाई में गिरा मंदिर का जर्जर छज्जा, दो की हालत नाजुक

मथुराएक महीने पहले
बंदरों के दो गुटों की लड़ाई में एक मंदिर का छज्जा गिर गया। इस हादसे की वजह से सुबह दर्शन करने जा रहे 4 श्रद्धालु हुए घायल।

मथुरा शहर कोतवाली इलाके में एक बार फिर बंदरों का आतंक देखने को मिला। यहां शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे बंदरों के दो गुटों की लड़ाई में मदन मोहन मंदिर का जर्जर छज्जा (बालकॉनी) गिर गया। तभी द्वारिकाधीश मंदिर दर्शन को जा रहे 4 श्रद्धालु इसकी चपेट में आ गए और घायल हो गए। घायल श्रद्धालुओं को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

हादसा से मची अफरा-तफरी
वहीं, हादसे से राजा धिराज बजरिया बाजार में अफरा-तफरी मच गई। स्थानीय लोगों ने घायलों को निकाला। इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इस हादसे में बाराबंकी निवासी अनिल वाजपई, चंदन मिश्रा, मथुरा निवासी गोपाल चतुर्वेदी व एक अन्य श्रद्धालु घायल हो गया। जिला अस्पताल में लाए गए श्रद्धालुओं में दो की हालत गंभीर थी, जबकि दो श्रद्धालुओं को प्राथमिक उपचार देकर रिलीव कर दिया गया।

बंदरों की वजह से पहले भी गिरा था मंदिर का गेट
कुछ दिन पहले वृंदावन में बंदरों ने रंगनाथ मंदिर में एक लोहे का भारी भरकम गेट गिरा दिया था। जिसकी वजह से 3 श्रद्धालु घायल हो गए थे। बंदरों के कारण और भी कई हादसे हुए हैं, लेकिन जिम्मेदार हैं कि कोई ध्यान ही नहीं देते। पिछले महीने नगर निगम ने दो हजार बंदर पकड़ने का ठेका दिया था। मगर जहां बंदरों की संख्या मथुरा व वृंदावन में एक अनुमान के मुताबिक, 50 हजार से ज्यादा हो वहां दो हजार बंदर पकड़ना ऊंट के मुंह जीरा जैसी कहावत को सिद्ध करता।

खबरें और भी हैं...