• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Mathura
  • The Body Of The Girl Student Was Found Hanging On The Noose In The Hostel Of The Hospital, The Police Took Possession Of The Body And Sent It To The Postmortem

मथुरा में नर्सिंग की छात्रा ने की आत्महत्या:हॉस्टल में फांसी के फंदे पर लटका मिला शव, फांसी लगाने से पहले काटी नस, पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा

मथुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नर्सिंग की छात्रा के आत्महत्या किये जाने की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी जांच करते हुए - Dainik Bhaskar
नर्सिंग की छात्रा के आत्महत्या किये जाने की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी जांच करते हुए

मथुरा के वृंदावन इलाके के एक चैरिटेबल हॉस्पिटल में नर्सिंग की एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्रा के आत्महत्या करने की जानकारी मिलते ही हॉस्पिटल प्रबंधन में हडकंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

आगरा की रहने वाली थी छात्रा

वृंदावन के रामकृष्ण मिशन चैरिटेबल हॉस्पिटल में नर्सिंग 2nd ईयर की छात्रा रश्मि भदौरिया ने बुधवार को हॉस्टल के अपने रूम में आत्महत्या की। आगरा की रहने वाली रश्मि हॉस्टल के कमरा नम्बर जी-11 में अपनी एक रूम मेट के साथ रह रही थी।

रूम मेट ने देखा सबसे पहले रश्मि का शव

नर्सिंग की 2nd ईयर की छात्रा रश्मि की रूम मेट सुबह 5 बजे उठकर जब हॉस्पिटल जा रही थी, तो उसने रश्मि से दरवाजा बंद करने को कहा। जिसके बाद रश्मि ने दरवाजा बंद कर लिया। रूम मेट जब करीब 10 बजे वापस आई तो उसने दरवाजा खटखटाया, लेकिन जब काफी देर तक दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद उसने कमरे के पीछे बनी खिड़की से देखा तो पाया कि रश्मि फांसी के फंदे पर झूल रही है। इसके बाद रूममेट ने वार्डन कुसुम को सूचना दी।

पहले काटी हाथ की नस फिर लगाई फांसी

रश्मि के आत्महत्या करने की जानकारी मिलते ही अस्पताल प्रबंधन में हडकंप मच गया। मौके पर पहुंचे अस्पताल प्रबंधन के लोगों ने रूम का गेट तोड़ा और फांसी पर लटकी रश्मि को नीचे उतारा। इसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर जब देखा तो पाया कि रश्मि ने पहले हाथ की नस काटी और फिर फांसी लगा ली।

रीढ़ की हड्डी के दर्द से परेशान थी छात्रा

आगरा की रहने वाली छात्रा रश्मि की दो बहनें और एक भाई है। रश्मि सबसे बड़ी थी। रश्मि पिछले एक साल से रीढ़ की हड्डी के दर्द से परेशान थी। उसका आगरा के एक चिकित्सक से इलाज भी चल रहा था। लेकिन जब उसे राहत नहीं मिली, तो उसने एक महीने पहले दवा लेना छोड़ दिया। रश्मि के आत्महत्या करने की यही वजह मानी जा रही थी।

कहीं बर्गर तो नहीं बना आत्महत्या का कारण

रश्मि के आत्महत्या किये जाने की जानकारी मिलते ही उसके परिजन पहुंच गए। रश्मि के चाचा संजय ने बताया कि रविवार को रश्मि का फोन आया था। वह बहुत रो रही थी। रश्मि ने फोन पर बताया कि वह एक बर्गर ज्यादा ले आई है, इस पर वार्डन कुसुम ने उसको बहुत डाँटा है।

इसके बाद परिजनों ने रश्मि को समझाया और पढ़ाई में मन लगाने को कहा। इस घटना के बाद सवाल खड़ा हो रहा है कि कहीं वार्डन ने रश्मि को एक्स्ट्रा बर्गर लाने के चक्कर मे ज्यादा टॉर्चर तो नहीं कर दिया। जिसकी वजह से रश्मि डिप्रेशन में आ गयी और उसे आत्महत्या जैसा कदम उठाना पड़ा।

जांच में जुटी पुलिस

रश्मि के आत्महत्या करने की जानकारी मिलते ही एसपी सिटी मार्तंड प्रकाश सिंह और सीओ सदर राम मोहन शर्मा मौके पर पहुंच गए। पुलिस अधिकारियों ने मौके पर फॉरेंसिक टीम को बुलाकर साक्ष्य जुटाने शुरू कर दिए।

एसपी सिटी मार्तंड प्रकाश सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है, प्रथम द्रष्टया मामला आत्महत्या का लग रहा है। लेकिन पोस्टमॉर्टम के बाद जो भी सामने आएगा, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...