पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

17 महीने बाद मथुरा कोरोना मुक्त:6 अप्रैल 2020 को पहला मामला सामने आया था; 28 अगस्त 2021 के बाद से नहीं मिला एक्टिव केस

मथुरा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मथुरा में 6 अप्रैल 2020 से अब तक कुल 20,282 कोरोना केस पाए गए। जबकि 402 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। - Dainik Bhaskar
मथुरा में 6 अप्रैल 2020 से अब तक कुल 20,282 कोरोना केस पाए गए। जबकि 402 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी।

मथुरा के लिए राहत की खबर है। 17 महीने बाद श्रीकृष्ण की नगरी कोरोना संक्रमण से मुक्त हो गई है। बीते 10 दिनों से जिले में कोरोना का कोई नया मरीज नहीं मिला है। न ही अब कोई एक्टिव केस है। इसके बाद सोमवार को मथुरा जिले को कोरोना मुक्त घोषित कर दिया गया है। अब स्वास्थ्य विभाग लोगों से अपील कर रहा है कि जनपद को इसी तरह कोरोना मुक्त रखने के लिए सावधानी बरतें।

6 अप्रैल 2020 को कोरोना का पहला केस

मथुरा में 6 अप्रैल 2020 को कोरोना का पहला केस सामने आया था। उसके बाद धीरे-धीरे केस बढ़ने लगे। कई बार मरीजों का आंकड़ा 100 के पार भी पहुंचा। कोविड पॉजिटिव केसों का आना बरकरार रहा। मामले सामने आने के साथ ही लोगों में डर भी बढ़ता ही जा रहा था।

28 अगस्त 2021 के बाद नहीं आया कोई पॉजिटिव केस

28 अगस्त 2021 को 2 केस सामने आए थे। उसके बाद अभी तक कोई भी कोरोना पॉजिटिव केस नहीं पाया गया। उस दिन से ही धीरे एक्टिव केसों की संख्या कम होने लगी। उसके बाद आंकड़ा शून्य तक पहुंचा। इस तरह सोमवार को जनपद पहली बार कोरोना मुक्त हो गया।

20 हजार से ज्यादा कोरोना केस पाए गए थे

जनपद में 6 अप्रैल 2020 से अब तक कुल 20,282 कोरोना केस पाए गए। जबकि 402 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग ने करीब 9 लाख 30 हजार से ज्यादा सैंपल लिए थे। जनपद में कोविड 19 प्रभारी डॉक्टर भूदेव ने बताया कि 17 महीने बाद जनपद कोरोना मुक्त हुआ हैं। कोरोना की रफ्तार थमने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली है।

खबरें और भी हैं...