यमुना के जल में हो रही बढ़ोतरी:मथुरा में हजारों बीघा फसल हुई जलमग्न, विधायक बोले मुख्यमंत्री से करेंगे मुआवजे की मांग

मथुरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खेतों में यमुना का पानी भर जाने के कारण धान ,बाजरा और सब्जियों की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गयी - Dainik Bhaskar
खेतों में यमुना का पानी भर जाने के कारण धान ,बाजरा और सब्जियों की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गयी

मथुरा में यमुना चेतावनी निशान के पार बह रही है। यहां यमुना के जल स्तर में हुई बढ़ोतरी के कारण हजारों बीघा फसल जल मग्न हो गई है। खेतों में पानी भर जाने के कारण धान, बाजरा के अलावा सब्जियों की फसल बर्बाद हो गई है। भाजपा विधायक ने डूबी फसल का पानी में उतर कर जायजा लिया। विधायक अब किसानों को मुआवजा देने के लिए मुख्यमंत्री से मांग करेंगे।

चेतावनी निशान के पार बह रही यमुना

मथुरा में यमुना चेतावनी निशान के पार बह रही है। यहां यमुना का जलस्तर 165.45 मीटर से ऊपर है। चेतावनी का निशान 165.20 मीटर है और वर्तमान में यमुना . 25 मीटर ऊपर बह रही है। हालांकि खतरे के निशान से यमुना अभी .55 मीटर नीचे है। सिंचाई विभाग के अनुसार यमुना के जल में शनिवार देर शाम से गिरावट शुरू हो जाएगी। गोकुल वैराज से आगरा के लिए लगातार पानी डिस्चार्ज किया जा रहा है।

यमुना के जल में शनिवार देर शाम से गिरावट शुरू हो जाएगी
यमुना के जल में शनिवार देर शाम से गिरावट शुरू हो जाएगी

नौहझील इलाके में हालात बदतर

यमुना के जल में हुई बढ़ोतरी के कारण सबसे ज्यादा हालत नौहझील इलाके में खराब हैं। यहां यमुना के पानी में हजारों बीघा फसल डूब गई है। जिसकी वजह से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। यहां के करीब एक दर्जन से ज्यादा गांव के खेतों में पानी भरा नजर आ रहा है। जिधर देखो उधर पानी ही पानी नजर आ रहा है।

नौहझील शेरगढ़ मार्ग पर सड़क पर आया यमुना का पानी
नौहझील शेरगढ़ मार्ग पर सड़क पर आया यमुना का पानी

भाजपा विधायक ने लिया बर्बाद फसल का जायजा

यमुना जल में डूबे खेतों के कारण बर्बाद हुई फसल का जायजा लेने माट से भाजपा विधायक राजेश चौधरी नौहझील इलाके में पहुंचे । यहां विधायक राजेश चौधरी ने किसानों के साथ पानी में उतर कर फसल बर्बाद का जायजा लिया। राजेश चौधरी घुटने तक पानी में होकर उन खेतों पर पहुंचे जहां सबसे ज्यादा फसलों को नुकसान हुआ।

भाजपा विधायक राजेश चौधरी ने पानी से डूबे खेतों में जा कर बर्बाद फसल का जायजा लिया
भाजपा विधायक राजेश चौधरी ने पानी से डूबे खेतों में जा कर बर्बाद फसल का जायजा लिया

इस फसल को हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

हरियाणा के हथिनी कुंड वैराज और दिल्ली के ओखला बेरजा से छोड़े गए पानी के कारण मथुरा के नौहझील और शेरगढ़ इलाके में सबसे ज्यादा फसल जल मग्न हुई। इस इलाके के करीब डेढ़ दर्जन गांव के हजारों बीघा खेत पानी में डूब गए। जिसकी वजह से यहां धान,बाजरा के अलावा पालक,मूली,गोभी आदि सब्जियां पूरी तरह खराब हो गई।

पानी में डूबी फसल को देखते किसान
पानी में डूबी फसल को देखते किसान

प्रशासन टीम बनाकर करे सर्वे

विधायक राजेश चौधरी ने बताया कि जमीनी हकीकत जानने के बाद उन्होंने कृषि मंत्री से बात की,मुख्यमंत्री से बात करेंगे कि किसानों को किस तरह मुआवजा दिया जाए। जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से बात की है कि मौके पर टीम बनाकर भेजें और बर्बाद हुई फसल का आकलन करें। दैनिक भास्कर ने माट एसडीएम से बात करने का प्रयास किया तो उन्होंने फोन ही नहीं उठाया।

खबरें और भी हैं...