मथुरा वृंदावन के बीच हुआ नई रेल बस का ट्रायल:लोगों के लिए बनी आकर्षण का केंद्र; 45 मिनट में पहुंचेगी वृंदावन

मथुरा7 दिन पहले
रेलवे का यह स्टाफ ट्रायल के दौरान हर गतिविधि नजर रखेगा ,ट्रायल ओके होने के बाद इसे यात्रियों के लिए शुरू कर दिया जायेगा

मथुरा वृंदावन के बीच चलने वाली रेल बस जल्द रिटायर हो जाएगी। पुरानी रेल बस की जगह नई रेल बस लेगी। रेलवे के इज्जत नगर मंडल में बनाई गई रेल बस का रविवार को मथुरा वृंदावन के बीच ट्रायल किया गया। कुछ दिन ट्रायल के बाद इसे जल्द मथुरा वृंदावन के बीच यात्रियों के बीच चलाया जाएगा।

इज्जत नगर मंडल में बनी नई रेल बस पहले ट्रेलर के जरिए मथुरा जंकशन पहुंची। यहां 4 दिन तक तकनीकी रूप से तैयार करने के बाद इसका रविवार को ट्रायल किया गया। पहले ट्रायल में रेल बस ने 12 किलोमीटर का सफर 45 मिनट में पूरा किया। रेल बस सुबह 9 बज कर 45 मिनट पर मथुरा जंकशन से चली जो कि 10 बज कर 33 मिनट पर वृंदावन पहुंची।

नई रेल बस 45 मिनट में मथुरा से चलकर वृंदावन पहुंची
नई रेल बस 45 मिनट में मथुरा से चलकर वृंदावन पहुंची

नई रेल बस को देखने के लिए पहुंचे लोग

पहली बार ट्रायल के दौरान वृंदावन पहुंची रेल बस को देखने के लिए लोग स्टेशन पहुंचे। नई रेल बस की एक झलक पाने को बच्चे, बुजुर्ग,जवान सभी में उत्साह नजर आया। नई रेल बस की खूबियां देख सभी ने इसकी तारीफ की। वृंदावन स्टेशन पहुंचने पर एक यात्री ने तो भगवान का प्रसाद और फूल देकर रेल स्टाफ का स्वागत किया।

वृंदावन स्टेशन पहुंचने पर एक यात्री ने तो भगवान का प्रसाद और फूल देकर रेल स्टाफ का स्वागत किया
वृंदावन स्टेशन पहुंचने पर एक यात्री ने तो भगवान का प्रसाद और फूल देकर रेल स्टाफ का स्वागत किया

यह हैं नई रेल बस में खूबी

पुरानी रेल बस के मुकाबले नई रेल बस में कई अलग सुविधा हैं। इस नई रेल बस में जहां इसका इसका इंजन 320 हौर्स पावर का है वहीं इसमें साउंड इंसोलेशन कैनोपी इंजन लगाया गया है। इसके साथ ही इसमें आने वाले स्टेशन की जानकारी देने के लिए साउंड सिस्टम लगाया गया है।

जिस पर भजन भी चलेंगे। सुरक्षा के नजरिए से 2 सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। इस नई रेल बस में गद्देदार सीट लगाई गई हैं तो छत पर की गई पेंटिंग भी ब्रज की कला के अनुरूप की गई है। रेल बस के बाहर मंदिर और गायों की पेंटिंग की गई है।

नई रेल बस में पुरानी रेल बस के मुकाबले कई अधिक सुविधा हैं।
नई रेल बस में पुरानी रेल बस के मुकाबले कई अधिक सुविधा हैं।

रेलवे स्टाफ कर रहा लगातार चैक

रेल बस के ट्रायल के दौरान रेलवे के अधिकारी और कर्मचारी इसकी हर हर गतिविधि पर नजर रखे हुए थे। रेल बस का मथुरा से वृंदावन तक किए गए ट्रायल के दौरान लोको पायलट केबिन,इंजन,ब्रेक,इसमें लगे पंखे, सीसीटीवी कैमरे,साउंड सिस्टम सभी को चैक किया गया।

रेल बस के ट्रायल के दौरान रेलवे के अधिकारी और कर्मचारी इसकी हर हर गतिविधि पर नजर रखे हुए थे
रेल बस के ट्रायल के दौरान रेलवे के अधिकारी और कर्मचारी इसकी हर हर गतिविधि पर नजर रखे हुए थे

30 सितंबर को हो सकता है इसका उद्घाटन

मथुरा वृंदावन के बीच नई रेल बस का दो से 3 बार ट्रायल किया जायेगा। इसके बाद इसको यात्रियों के लिए शुरू किया जायेगा। संभावना जताई जा रही है कि इसका उद्घाटन 30 सितंबर को सांसद हेमा मालिनी कर सकती हैं। यह रेल बस दिन में 4 से 5 बार मथुरा वृंदावन के बीच चलाई जा सकती है। अभी को रेल बस चल रही है वह 2 चक्कर मथुरा वृंदावन के बीच चलाई जा रही है।

नई रेल बस का नाम सारथी रखा गया है इस पर मंदिर और गाय की पेंटिंग बनाई गयी है
नई रेल बस का नाम सारथी रखा गया है इस पर मंदिर और गाय की पेंटिंग बनाई गयी है

यह रेल स्टाफ ले कर पहुंचा वृंदावन

नई रेल बस के ट्रायल के दौरान इसे लोको पायलट मनोज प्रसाद ने ड्राइव किया। इसके अलावा इसमें गेट मैन, इंजीनियर अवधेश श्रोतीय, एसपी सिंह, डीपी शर्मा ,रजनीश के अलावा इज्जत नगर से आया रेलवे स्टाफ मौजूद रहा।

यह स्टाफ इसके ट्रायल के दौरान यह देखेगा इसके संचालन में कोई कमी तो नहीं आ रही। 12 किलोमीटर के मीटर गेज के इस रेल लाइन पर 12 रेलवे के फाटक और 1 हाल्ट स्टेशन है।