पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गो तस्करों की गोरक्षकों से भिड़ंत:मथुरा में गोरक्षकों ने कराया 35 गोवंश को मुक्त, दो गिरफ्तार; आगरा से दिल्ली ले जा रहे थे

मथुरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोवंश को आगरा से दिल्ली की ओर ले जाया जा रहा था। - Dainik Bhaskar
गोवंश को आगरा से दिल्ली की ओर ले जाया जा रहा था।

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में गोरक्षकों ने शुक्रवार रात हाईवे पर अवैध रूप से गोवंश को ले जा रहे ट्रक को कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ा। पुलिस ने मौके से दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। करीब तीन दर्जन गोवंश को मुक्त कराया गया।

जानकारी के मुताबिक देर रात करीब 2 बजे गोरक्षा समिति के सदस्यों को सूचना मिली कि अवैध रूप से गोवंश को आगरा से दिल्ली की ओर ले जाया जा रहा है। सूचना मिलते ही हाईवे पर समिति का नेटवर्क एक्शन मोड में आ गया और ट्रक की रेकी शुरू कर दी। आगरा के सदस्यों की पहचान पर नयति हॉस्पिटल के समीप वृंदावन के सदस्यों ने होडल, पलवल के सदस्यों के साथ संदिग्ध ट्रक की घेराबंदी कर दी। लेकिन ट्रक चालक ने ट्रक को दिल्ली की तरफ भगाना शुरू कर दिया। इसी बीच ट्रक की सुरक्षा में चल रही एक काले रंग की स्कार्पियो ने गोरक्षकों पर तमंचे से फायरिंग शुरू कर दी। जिससे गोरक्षक विकास पंडित बाल-बाल बच गया। गोरक्षकों की टीम ने ट्रक के टायरों को निशाना बनाकर ट्रक को रोक लिया। जब तक गोरक्षक व पुलिस ट्रक सवारों की घेराबंदी करती, तब तक कई लोग भाग निकलने में सफल रहे।

पुलिस ने 2 तस्करों को लिया हिरासत में
पुलिस ने मौके से सलीम व जमालुद्दीन को हिरासत में ले लिया। जिनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं, पकड़े गए गोवंश को गोरक्षा समिति द्वारा संचालित गोशाला में भेज दिया गया है। इस दौरान विकास पंडित, बलराम ठाकुर, निखिल शर्मा, लखन ठाकुर, राहुल बृजवासी, सचिन चौधरी, विपिन चौधरी, सचिन, शैलेंद्र हिंदू पलवल, हरिंदर भाई, रौनक ठाकुर आगरा आदि के अलावा पुलिस टीम मौजुद रही।