पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मथुरा के थाना हाईवे में घुटनों तक भरा पानी:हर साल बारिश में पानी-पानी हो जाता है थाना, हाईवे का पानी सड़कों से होकर भरता है थाने में, फरियादी और पुलिसवाले हो रहे परेशान

मथुरा2 महीने पहले
ट्यूबबेल पंप लगाकर थाने के अंदर भरे पानी को निकाला जा रहा है। सरकार के 4 विधायक, एक मेयर और एक सांसद होने के बावजूद भी मथुरा में जलभराव की समस्या आम है।

देर रात हुई बारिश से मथुरा का हाईवे थाना परिसर पानी पानी हो गया। थाने में जलभराव के चलते पुलिसकर्मियों और फरियादियों को आने जाने में काफी दिक्कतें हो रही हैं। वहीं पुलिस ने पानी की निकासी के लिए ट्रॉली ट्यूबवेल का इंतजाम किया है।

पंप लगाकर निकाला जा रहा पानी

ट्यूबबेल पंप लगाकर थाने के अंदर भरे पानी को निकाला जा रहा है। सरकार के 4 विधायक, एक मेयर और एक सांसद होने के बावजूद भी मथुरा में जलभराव की समस्या आम है। इस समस्या से आम जनता को तो हमेशा जूझना पड़ता ही है लेकिन अब थानों में भी जलभराव की समस्या हो गई है।

हर साल भर जाता हैं थाना हाईवे में पानी

थाना हाईवे में जब भी बरसात होती है तो पानी भर जाता है। पुलिसकर्मी और पीड़ितों को पानी के बीच से निकलना पड़ता है। जिसमें लोग गिर भी जाते हैं। परंतु अभी तक थाने के अंदर से जल निकासी की कोई ठोस व्यवस्था नहीं की गई है। जब भी बरसात का पानी भर जाता है, तो पंप लगाकर पानी को निकाला जाता है। थाने की लेवल नीचा होने की वजह से बाईपास का पानी भी सड़क से बहकर थाने में भर जाता है। थाना हाईवे प्रभारी अनुज कुमार ने बताया की उन्होंने एक पत्र नगर निगम को भेजा है। जल्द ही पानी सोखने के लिए रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम यहां लग जाएगा

यमुना के जलस्तर में हुई बढोत्तरी

पहाड़ी इलाकों में हो रही बारिश का असर अब मैदानी इलाकों में देखने को मिल रहा हैं । मथुरा वृन्दावन में यमुना नदी के जलस्तर में बढोत्तरी हुई हैं । जिसकी बजह से घाटों से दूर हुई यमुना नदी अब घाटों पर बह रही हैं । यमुना के जलस्तर में हो रही बढोत्तरी को लेकर प्रशाषन एलर्ट हो गया हैं ।

हथिनी कुंड से छोड़ा गया 4 लाख क्यूसेक पानी

हरियाणा के यमुना नगर स्थित हथिनी कुंड बैराज से 4 लाख क्यूसेक पानी यमुना में बुधवार को छोड़ा गया हैं । यमुना में यह पानी 5 दिन बाद मथुरा वृन्दावन में पहुँचेगा। लेकिन पिछले 48 घण्टो से दिल्ली एनसीआर व निचले क्षेत्रो में हो रही मूसलाधार बारिश के कारण यमुना पहले से ही लबालब हैं। यमुना में भारी मात्रा में जलकुंभी बहकर आ रही है। मौसम विभाग द्वारा अगले 48 घण्टो तक भारी बारिश होने की सम्भावना के मद्देनजर प्रशासन भी एलर्ट मोड में आ गया है। बाढ़ नियंत्रक प्रभारी द्वारा खुद जलस्तर बढ़ने की सम्भावनाओ को देखते हुए मोनिटरिंग की जा रही है। तटीय इलाकों में निवासरत लोगो से सतर्कता बरतने की अपील की जा रही है। निकट भविष्य में जलस्तर बढ़ने की सम्भावना को देखते हुए प्रशासन कोई जोखिम लेने के मूड में नही है।