साध्वी राजराजेश्वरी पुरी जगदगुरु की उपाधि से अलंकृत:निरंजनी अखाड़ा की साध्वी राजराजेश्वरी पुरी को चिंतामणि कुंज में संतों ने किया सम्मानित

वृंदावन, मथुरा9 दिन पहले

वृंदावन के छटीकरा रोड स्थित श्री चिंतामणि कुंज में ब्रज भूमि कल्याण परिषद, अखिल भारतवर्षीय ब्राह्मण महासभा एवं ब्रह्म कीर्ति रक्षक दल के संयुक्त तत्वावधान में निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर विद्यानंदपुरी महाराज की परम शिष्या श्रोत निष्ठ, ब्रह्मनिष्ठ साध्वी 1008 राजराजेश्वरी पुरी महाराज को अध्यात्म जगद्गुरु की उपाधि से अलंकृत किया गया।

स्वामी विद्यानंद पुरी महाराज ने कहा कि अध्यात्म के प्रचार प्रसार के लिए जो मेरी शिष्या को अध्यात्म जगद्गुरु की उपाधि दी गई है। उससे मेरे हृदय को अपार प्रसन्नता हो रही है।

संत समिति के वृन्दावन अध्यक्ष महंत डॉ. आदित्यनंद महाराज ने कहा कि भगवान राम और कृष्ण की लीलाओं का प्रचार प्रसार ही अध्यात्म जगत की सच्ची सेवा है।

अखिल भारतवर्षीय ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं ब्रजभूमि कल्याण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहारी लाल वशिष्ठ ने कहा कि संस्था समय समय पर संतों से परामर्श लेकर जगद्गुरु जैसी उपाधियां प्रदान करती चली आ रही है।

डॉ. गोपाल चतुर्वेदी एवं आचार्य बद्रीश महाराज ने कहा कि राजराजेश्वरी पुरी से हमें पूर्ण आशा है कि वह अध्यात्म के जगत में भगवान की लीलाओं का प्रचार प्रसार पर सम्पूर्ण ब्रज मंडल को गौरवान्वित करेंगी।

इस अवसर पर कृष्ण कन्हैया पदरेणु, युवा साहित्यकार डॉ. राधाकांत शर्मा, ईश्वर चंद्र रावत, बालो पंडित, श्याम सुंदर ब्रजवासी, करण कृष्ण गोस्वामी, भगत सिंह, सुंदरी चतुर्वेदी, मोहित चतुर्वेदी, सोहित चतुर्वेदी, प्रवीण सिंह आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...