तिरंगा के रंग में नहाया ठाकुर बांके बिहारी मंदिर:भक्तों के लिए बना आकर्षण का केंद्र, प्राचीन गोविंद देव मंदिर पर बिखरी तिरंगी छटा

वृंदावन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आजादी के अमृत महोत्सव पर वृंदावन में विश्व विख्यात ठाकुर बांके बिहारी मंदिर रविवार को तिरंगा रोशनी में नहाया हुआ दिखाई दिया। तिरंगा रंग में रंगे बांके बिहारी मंदिर को देखने के लिए भक्त लालायित नजर आ रहे थे। मंदिर परिसर एवं मंदिर के बाहर लोक ठाकुर बांके बिहारी की जय जयकार के साथ साथ देशभक्ति पर नारे भी लगा रहे थे।

पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मनाते हुए तिरंगे रंग में रंगा हुआ है। वहीं बांके बिहारी मंदिर भी इससे अछूता नहीं रहा है। रविवार शाम को मंदिर प्रबंधन द्वारा बांके बिहारी मंदिर को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा की रोशनी में जगमगाया गया। जो देश-विदेश से आने वाले भक्तों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ था। भक्त मंदिर में जहां ठाकुर जी की जय जयकार कर रहे थे। वहीं देश के अमर शहीदों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को नमन करते हुए उन्हें याद कर रहे थे।

तिरंगा के रंग में नहाया ठाकुर बांके बिहारी मंदिर।
तिरंगा के रंग में नहाया ठाकुर बांके बिहारी मंदिर।

मंदिर की अनुपम छटा के साथ लोगों ने ली सेल्फी
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा संरक्षित प्राचीन गोविंद देव मंदिर को भी तिरंगा रोशनी में जगमगाया है। इस प्राचीन धरोहर को आजादी के अमृत महोत्सव पर तिरंगा रोशनी में नहाता देख श्रद्धालुओं के कदम जहां के तहां थम गए और लोग उसकी अनूठी छटा को निहारते रहे। देश-विदेश से आए लोगों ने यहां मंदिर की अनुपम छटा के साथ सेल्फी भी ली।

वृंदावन में तिरंगा के रंग में नहाया मंदिर।
वृंदावन में तिरंगा के रंग में नहाया मंदिर।

12 महीने इसी तरह रंग बिरंगी रोशनी से जगमगाना चाहिए
लोगों का कहना था कि ऐसी प्राचीन धरोहरों को सरकार द्वारा 12 महीने इसी तरह रंग बिरंगी रोशनी से जगमगाया जाना चाहिए। ताकि लोगों का आकर्षण इस और बढ़ सके और यहां के प्राचीन इतिहास से रुबरू हो सकें।

खबरें और भी हैं...