घोसी के धोखेबाज़ फौजी की कहानी:प्यार और शादी का लालच देकर युवती का जीता दिल, एक साल बाद छोड़ा

घोसी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मऊ के घोसी में फौजी ने गांव की एक युवती से प्यार करने फिर शादी देकर धोखा देने का मामला चर्चा में है। युवती को प्रेमजाल में फंसाकर शादी रचाकर अपना बनाने का वादा कर फौजी कई साल तक उसका शारीरिक शोषण करता रहा। जब आहत प्रेमिका ने पुलिस की शरण ली तो घोसी कोतवाली में हुई पंचायत के बाद फौजी ने प्रेमिका से शादी रचाने की हामी भरी। कुछ दिन बाद सात फेरे लेकर अपने साथ तैनाती स्थल पर ले गया। साल भर बाद वहां से वापस लाकर सास व पति ने उसे पीटकर दहशत में कर दिया। सप्ताह भर पहले फौजी की दूसरी शादी का तिलक चढ़ गया। पत्नी की तहरीर पर पुलिस ने शनिवार को आर्मी जवान के खिलाफ दुष्कर्म व उसकी मां पर बहू को प्रताड़ित करने का मुकदमा दर्ज किया।

जम्मू में तैनात है यशवंत

आरोपी सेना का जवान यशवंत घोसी कोतवाली क्षेत्र के कपरियाडीह का निवासी है। वर्तमान में वह जम्मू में तैनात है। वह सेना में भर्ती होने के बाद से गांव की ही युवती से प्यार कर बैठा। उनका प्यार जगजाहिर होने लगा तो यशवंत ने जमाने की परवाह किये बगैर शादी रचाकर युवती को सदा के लिये अपनाने का भरोसा दिया। युवती ने भी प्रेमी की बात को सच मानते हुए उसके समक्ष अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया। फौजी उसकी इज्जत से खेलता रहा। कुछ समय गुजरने के बाद युवती ने शादी का दबाव बनाया तो फौजी वादे से मुकर गया।

शादी के बाद तैनाती स्थल पर जाकर युवती को दगाबाजी का अंदाजा लगा। जिससे आहत युवती को प्रेमी के मुकरने पर गहरा झटका लगा। वह उसी समय घोसी कोतवाली पहुंच गई और पूरी दास्तान बताते हुए न्याय की गुहार लगाने लगी। मामला संज्ञान में आने के बाद तत्कालीन कोतवाल ने दोनों पक्षों को कोतवाली में तलब किया है। फौजी जवान, उसकी प्रेमिका के साथ ही दोनों के परिजन व कुछ अन्य लोग जुटे। यहां घंटों हुई पंचायत के बाद दोनों की शादी करा देने पर सहमति बनी। दोनों ने शादी भी कर ली और शादी के बाद यशवंत युवती को अपनी तैनाती स्थल पर ले गया। वहां लगभग एक साल तक दोनों साथ भी रहे।